लॉकडाउन तोड़ कर्नाटक में निकाली गई रथयात्रा, स्वरा भास्कर ने मीडिया की चुप्पी पर उठाए सवाल

लॉकडाउन न होने के बावजूद तबलीगी जमात के सदस्यों के निजामुद्दीन मरकज में इकठ्ठा होने पर जिस तरह से मीडिया ने भारत में कोरोना के लिए मुस्लिमों को जिम्मेदार ठहराया। उसके विपरीत अब कर्नाटक में लॉकडाउन तोड़ कर निकाली गई रथयात्रा पर मीडिया ने चुप्पी साध ली है। जिसमे हजारों लोगों ने हिस्सा लिया।

कर्नाटक रथयात्रा का एक वीडियो शेयर करते हुए एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने लिखा- ‘जिस लेवल की नाराजगी तबलीगी जमात को मिली थी वैसे ही रिएक्शन का इंतजार मीडिया से है।’ अपने अगले ट्वीट में एक्ट्रेस ने लिखा-‘अब कुछ ‘अनबायस्ट’ लोग आएंगे औऱ केहेंगे कि यह मंदिर कोरोना षड्यंत्र का हिस्सा कैसे था!’

इससे पहले महाराष्ट्र के सोलापुर में एक रथयात्रा का आयोजन किया गया था जिसमें हजारों लोगो ने भाग लिया। इस रथ यात्रा में लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंस की जमकर धज्जियां उड़ाई गई जब पुलिस ने उन्हें रोकने कि कोशिश की तो लोगों ने पथराव शुरू कर दिया जिसमे कई पुलिस वाले घायल हो गए।

बता दें कि जिस दिन रथयात्रा निकाली जानी थी उस दिन पुलिस ने गांव के कुछ लोगों को रथ पूजा करने की इजाजत दे दी। जिसके बाद लोगों ने रथ पूजा शुरू की। जैसे ही पूजा शुरू की गयी देखते ही देखते लोगों की भीड़ वहां जमा होने लगी और लोग रथयात्रा निकालने लगे। यह देख पुलिस ने उन्हें रोका तो उनपर पथराव किया गया।

ऐसा ही एक मामला शिरडी में भी देखने को मिला जब मंदिर के सीईओ और उसके परिवार वालों ने राम नवमी की पूजा का आयोजन किया जिसके चलते सोशल डिस्टेंस के मानकों का उलंघन किया गया था।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE