Home विडियो मंदसौर गोलीकांड की बरसी पर राहुल गांधी करेंगे आज किसानों को संबोधित

मंदसौर गोलीकांड की बरसी पर राहुल गांधी करेंगे आज किसानों को संबोधित

47
SHARE

मंदसौर: गोलीकांड की पहली बरसी पर बुधवार दोपहर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मंदसौर में किसान स्वाभिमान और श्रद्धांजलि सभा में शामिल होंगे। पिपलियामंडी के पास खोखरा में होने वाली इस सभा में राहुल गांधी समेत राष्ट्रीय और प्रदेश स्तरीय कई बड़े नेता शामिल होंगे।

श्रद्धांजलि सभा में राहुल गांधी ने उन परिवारों को भी बुलाया है जिनके परिजनों की पुलिस फायरिंग में मौत हुई थी. सारे परिवार आने के लिए राज़ी भी हो गए हैं। कांग्रेस के इस श्रद्धांजलि सभा में दो लाख किसानों के शामिल होने का दावा किया गया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पिछले साल मंदसौर गोलीकांड में मारे गए अभिषेक की मां अलका पाटीदार ने कहा, “राहुल गांधी किसानों की श्रद्धांजलि सभा में आ रहे हैं तो हमारा भी फर्ज बनता है कि उनसे मिलें। हमें बुलाया भी गया है।”

मृतक अभिषेक के पिता दिनेश पाटीदार ने बताया कि कांग्रेस ने हमको राहुल गांधी की सभा में बुलाया है और हम जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी से उम्मीद है कि वो किसानों के घाटे के धंधे को फ़ायदे का बनाने की कोशिश करेंगे।

पुलिस अभिरक्षा में मृत बड़वन के घनश्याम धाकड़ के पिता दुर्गालाल का कहना है कि सभा में बहू, पोते के साथ बस में जाएंगे। इसी तरह टकरावद के बबलू पाटीदार के ताऊ बालाराम पाटीदार ने बताया कांग्रेस की ओर से कोई सूचना नहीं आई, पास जरूर बन गया है।

जानकारी के मुताबिक, राहुल गांधी दोपहर लगभग 12. 20 बजे चार्टर्ड प्लेन से मंदसौर हवाईपट्टी पर उतरेंगे। वहां से हेलीकॉप्टर द्वारा 12. 45 बजे सभा स्थल पिपलियामंडी पहुंचेंगे। सभा स्थल पर रुकने के बाद वह दोपहर 3 बजे हवाईपट्टी पर लौटेंगे और दिल्ली रवाना हो जाएंगे।

कांग्रेस की राज्य चुनाव प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया ने खुले तौर पर राज्य सरकार पर राहुल गांधी की सभा को असफल बनाने के लिए हर हथकंडा अपनाने का आरोप लगाया है।

उन्होंने कहा, ‘किसानों को सभा स्थल तक पहुंचने से रोकने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. किसानों से बांड तक भरवा लिए गए हैं। अब देखना यह है कि शहीद हुए छह किसानों को श्रद्धांजलि देने से रोकने के लिए शिवराज सरकार के हथकंडे कितने कारगर होते हैं’।

Loading...