हजरत मुहम्मद (सल्ल) दुनिया में शांति के दूत: एमएसओ

देवास/इंदौर: पैगंबर-ए-इस्लाम हजरत मुहम्मद (सल्ल) के जन्मदिवस के मौके पर शुक्रवार को हमेशा जरूरतमंद और गरीबो की मदद करनी वाली संस्था मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया (एमएसओ) देवास यूनिट के द्वारा वृद्ध आश्रम और गरीब बस्तियों में फल वितरित कर के शांति का संदेश दिया गया

इस मौके पर एम एस ओ देवास यूनिट के कन्वेनर अमान रज़वी ने बताया कि इस्लाम के आखिरी पैगंबर व शांति के दूत हजरत मुहम्मद (सल्ल) आज ही दुनिया में तशरीफ लाए। उन्होंने दुनिया में फैली तमाम बुराइयों को दूर कर शांति का पैगाम दिया।

डॉ ए’जाज़ अली क़ादरी ने बताया ईद मिलादुन्नबी को हजरत मुहम्मद (सल्ल) के जन्मदिवस पर मनाया जाता है। आपका का जन्म इस्लामिक माह रबीउल अव्वल की 12 तारीख को सुबह-ए-सादिक (सवेरे-सवेर) के समय 571 ईसवी मक्का में हुआ, आप जब दुनिया में तशरीफ लाए तो उस समय समाज कई बुराइयों से लिप्त था, जिसमें शराबखोरी, लूटमार, वेश्यावृत्ति, बच्चियों के पैदा होने पर जिंदा दफना देन आदि कई बुराइयां समाज में मौजूद थीं। उन्होने कहा, हजरत मुहम्मद (सल्ल) ने इन तमाम बुराइयों को दूर किया और समाज में सभी को एक समान का दर्जा दिया।  उन्होने बुजुर्गों व महिलाओं को इज्जत दिलाई, वहीं बच्चों को शफकत बख्शी।

एमएसओ देवास यूनिट के को-कन्वेनर इकरार ने बताया कि आपने इस्लाम को इखलाक व प्रेम की बुनियाद पर पूरी दुनिया में फैलाया व लोगों को शांति से जीवन बसर करने का संदेश दिया और लोगो को आपके सिंद्धांतो को जीवन मे अपनाने पर बल दिया। इस मौके पर अकरम भाई नक्शबंदी, मोहम्मद मारूफ, जीशान शेख, अरशद रज़ा, आवेश शेख, अरशद मंसूरी, सोहैल क़ादरी, आसिफ रज़ा, जुनैद पठान, सोहैल मंसूरी और एम एस ओ देवास यूनिट के तमाम मेम्बरान मौजूद थे।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE