ईरानी फिल्म ‘मुहम्मद दी मेसेंजर ऑफ गॉड’ पर बैन को लेकर महाराष्ट्र सरकार ने केंद्र को लिखा पत्र

दिलशाद नूर

इस्लाम धर्म के पैगंबर हजरत मुहम्मद (सल्ल) के जीवन पर आधारित ईरानी फिल्म ‘मुहम्मद दी मेसेंजर ऑफ गॉड’ पर प्रतिबंध लगाने को लेकर महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने केंद्र सरकार को पत्र लिखा है।

जानकारी के अनुसार, सूफी सुन्नी संगठन रज़ा एकेडमी ने इस सबंध में महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख से मुलाकात की थी। जिसके बाद गृह मंत्री जनाब अनिल देशमुख ने कैबिनेट मंत्री सूचना और प्रौद्योगिकी को पत्र लिख इस फिल्म को बैन करने के साथ ही यूट्यूब सहित सभी डिजिटल प्लैटफ़ार्म पर यूआरएल ब्लॉक करने के लिए पत्र लिखा है।

इस सबंध में हज़रत मोइन मियाँ साहब और असीरे मुफ्ती ए आज़म अल्हाज सईद नूरी साहब रज़ा अकादमी ने गृह मंत्री का शुक्रिया अदा  किया। बता दें कि इस फिल्म को लेकर देश भर के मुसलमानो में भारी गुस्सा है। दरअसल फिल्म में पैगंबर हजरत मुहम्मद (सल्ल) के किरदार को अभिनीत किया गया है। वहीं इस्लाम में पैगंबर हजरत मुहम्मद (सल्ल) के किसी भी तरह के चित्र बनाने की इजाजत नहीं है।

रज़ा एकेडमी की और से शिकायत में कहा गया कि ये फिल्म मुस्लिम समुदाय की भावनाओं को आहत करने वाली है। जिससे देश की लोकशांति और कानून व्यवस्था के बिगड़ने के अंदेशा है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE