बादल और मायावती को लेकर बोली कांशीराम की बहन – ‘गरीबों को अपने पास भटकने भी नहीं देते’

आगामी पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी के बीच गठबंधन हुआ है। इस गठबंधन को लेकर बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक कांशीराम की बहन स्वर्ण कौर ने मायावती और बादल परिवार को निशाने पर लिया। उन्होने कहा कि ये दोनों गरीबों को अपने पास भटकने भी नहीं देते है।

एक इंटरव्यू में स्वर्ण कौर ने कहा कि ना तो मायावती और ना ही बादल गरीबों के बारे में कुछ जानते हैं। वे गरीबी को भी नहीं समझते हैं। यह ऐसे पार्टियों का गठबंधन है जिसके ऊपर करोड़पतियों नहीं अरबपतियों का शासन है। उन्होने ये भी कहा कि उनके भाई ने गरीब के लिए बसपा की स्थापना की थी लेकिन मायावती ने इसे हाईजैक कर लिया। उन्होंने लोगों की सेवा के लिए शादी तक नहीं की।

कौर ने कहा कि उनके भाई फर्श पर सोते थे और गरीबों के साथ खड़े होते थे लेकिन बादल और मायावती जैसे लोग गरीबों को अपने पास भी नहीं आने देते हैं। स्वर्ण कौर ने यह भी कहा कि मायावती अपनी सुविधा के लिए दलितों की बेटी वाला टैग लगाती हैं। अब मायावती करोड़पति बन गईं हैं जबकि दलित समुदाय के लोग अभी भी दो वक्त की रोटी के लिए तरसते हैं।

साथ ही उन्होंने मायावती से सवाल करते हुए कहा कि क्या वे कभी किसी गरीब के घर गई हैं और गांवों में उनकी शिकायत सुनने के लिए गई हैं। स्वर्ण कौर ने यह भी कहा कि यह गठबंधन अकाली दल और बसपा की डूबती नैया को बचाने के लिए हैं। इस गठबंधन का असली मकसद सत्ता पाना है और इससे किसी भी दलित या गरीब का कोई फायदा नहीं होने वाला है।

बता दें कि 14 अप्रैल 1984 को बाबासाहेब भीमराव आंबेडकर की जयंती पर कांशीराम ने बीएसपी की स्थापना की थी। उन्होंने 2001 में शिक्षिका रहीं मायावती को अपना उत्तराधिकारी भी नामित किया था।