Home विडियो राजस्थान: धूल के तूफ़ान से अब तक 42 की मौत, 250 से...

राजस्थान: धूल के तूफ़ान से अब तक 42 की मौत, 250 से अधिक घायल

156
SHARE
PTI5_2_2018_000173B

उत्तर भारत के कई इलाकों में बुधवार को आए रेतीले तूफान ने भारी तबाही मचाई है. तूफ़ान से राजस्थान में मौत का आंकड़ा बढ़कर 42 हो गया है और 250 से अधिक लोग घायल हुए हैं. तो वहीँ यूपी में कम 64 लोगों की मौत हो गई तथा 47 अन्य घायल हो गए.

इसी बीच मौसम विभागन फिर से बवंडर का अलर्ट जारी किया है. चक्रवाती परिसंचार तंत्र से आगामी 48 घंटें के दौरान उत्तर प्रदेश और राजस्थान के कुछ हिस्सों में फिर से धूल भरी आंधी की आशंका जताई गई है जबकि जयपुर के भारतीय मौसम विभाग के वैज्ञानिक हिमांशु शर्मा के अनुसार राजस्थान में आगामी 48 घंटे के दौरान उच्च क्षमता की तेज हवाओं के चलने से धूल भरा अंधड़ आने की आशंका है. इससे उत्तर प्रदेश और राजस्थान के सीमावर्ती क्षेत्र विशेषकर करौली, धौलपुर जिले प्रभावित हो सकते हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आपदा प्रबंधन और राहत सचिव हेमंत कुमार गेरा ने बताया कि आंधी प्रभावित ज़िला प्रशासन को आकस्मिक निधि कोष से राशि जारी की गई है. मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये का मुआवज़ा, 60 प्रतिशत तक घायल हुए लोगों को दो-दो लाख रुपये का मुआवज़ा, 40 से 50 प्रतिशत तक घायल हुए लोगों को 60-60 हजार रुपये का मुआवज़ा दिया जाएगा.

वहीँ उत्तरप्रदेश के राहत आयुक्त संजय कुमार ने गुरुवार को बताया कि दो मई की रात सूबे में आई तेज़ आंधी-तूफान, बिजली गिरने और ओलावृष्टि के कारण हुए हादसों में 64 लोगों की मौत हो गई. उन्होंने बताया कि सबसे ज्यादा जनहानि आगरा ज़िले में हुई जहां 45 लोगों की मौत हो गई तथा 35 अन्य ज़ख़्मी हो गए. ज़िले में इस प्राकृतिक आपदा से 150 जानवरों की भी मौत हुई है.

केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता द्वारा राहत आयुक्त को भेजे गए पत्र में अगले 48 घंटों के दौरान प्रदेश के गोरखपुर, बलिया, मऊ, गाज़ीपुर, आंबेडकर नगर, संत कबीर नगर, बस्ती, कुशीनगर, महराजगंज, सिद्धार्थनगर और गोंडा समेत 32 जिलों में आंधी-तूफान आने की चेतावनी जारी की है.

Loading...