कोरोना के प्रकोप के बीच अयोध्या में रामनवमी मेला कराएगी योगी सरकार

नई दिल्ली: दुनियाभर में कोरोनो वायरस को फैलने से रोकने के लिए जतन किए जा रहे है। वहीं उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार राम नवमी के अवसर पर अयोध्या में एक भव्य कार्यक्रम के आयोजन को मंजूरी दी है।

गुरूवार को श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास से नगर विधायक वेद गुप्ता, ट्रस्ट के सदस्य व जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, एसएसपी आशीष तिवारी, डॉ.अनिल मिश्र ने मुलाकात कर रामनवमी मेले को लेकर मंत्रणा की। ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास का कहना है कि कोई भी अयोध्या आने वाले श्रद्धालुओं को रोक नहीं सकता और ना ही किसी में इतनी हिम्मत है।

इस राम नवमी मेला का आयोजन 25 मार्च से 2 अप्रैल को होगा जिसमें लाखों श्रद्धालुओं की भीड़ के इकट्ठा होनी की उम्मीद जताई जा रही है। दरअसल, राम जन्मभूमि फैसले के बाद नवरात्र के पहले दिन रामलला को गर्भ गृह से निकालकर अस्थाई मंदिर में शिफ्ट किया जाना है। इसी के चलते इस बार बड़ी संख्या में लोगों के अयोध्या पहुंचने की संभावना है।

बता दें कि रामनवमी महोत्सव में हर साल 15 से 20 लाख लोग अयोध्या पहुंचते रहे हैं। इससे पहले अयोध्या के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने सरकार से कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर इस कार्यक्रम को रद्द करने का अनुरोध किया था। उत्तर प्रदेश के मुख्य चिकित्सा अधिकारी घनश्याम सिंह ने कहा था, ‘हमारे पास इतनी बड़ी संख्या में लोगों की जांच करने के लिए आवश्यक संसाधन नहीं हैं।’

राज्य सरकार श्रद्धालुओं को आकर्षित करने के लिए दूरदर्शन पर कार्यक्रम का सीधा प्रसारण करने की भी योजना बना रही है। 25 मार्च को मेले के दौरान मुख्यमंत्री आदित्यनाथ के पहली आरती करने की उम्मीद है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE