योगी सरकार का बड़ा फैसला – मदरसों के उस्तादों को पढ़ाएंगे आईआईटी-आईआईएम के रिटायर्ड टीचर

को’रोना काल के दौरान मदरसों के छात्रों की पढ़ाई बाधित हो रही है। वहीं मदरसों के शिक्षक भी खाली है। ऐसे में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए ऑनलाइन क्लास शुरु कर मदरसों के उस्तादों को आईआईटी-आईआईएम के रिटायर्ड टीचर और छात्रों से ट्रेनिंग दिलवाने की व्यवस्था की है।

मदरसों को आधुनिक बनाने की पहल के बीच आईआईटी-आईआईएम (IIM) के दिग्गज मदरसों के उस्तादों को ऑनलाइन क्लास लेने की ट्रेनिंग देंगे। बुधवार से टीचरों की ऑनलाइन ट्रेनिंग भी शुरु हो गई। उपनिदेशक संजय कुमार मिश्र और जगमोहन सिंह, मदरसा बोर्ड के रजिस्‍ट्रार आरपी सिंह और मदरसा शिक्षक एसोसिएशन की ओर से ऑनलाइन ट्रेनिंग प्रोग्राम का आयोजन भी किया जा चुका।

भाषा समिति के सदस्‍य दानिश आजाद ने बताया कि कोरोना काल में ऑनलाइन पढ़ाई ही जारी रहगी. ऐसे में शिक्षकों को इसके लिए अपनी तैयारी करना चाहिए। आजाद ने ट्रेनिंग कार्यक्रम के दौरान यह भी बताया कि कौन-कौन सी ऑनलाइन एप के जरिए टीचर छात्रों से सीधे जुड़ सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि यूपी में रजिस्टर्ड मदरसों की संख्या करीब 8.5 हजार है। जिसमे करीब 25 हजार टीचर तो सिर्फ विषय विशेषज्ञ वाले है। इसके अलावा अरबी पढ़ाने वाले टीचर अलग हैं। ऐसे में आईआईटी-आईआईएम (IIM) के दिग्गजों से मदरसों के उस्तादों को ट्रेनिंग का फाइदा छात्रों को मिलेगा।