Home उत्तर प्रदेश आईएएस बनीं प्राइमरी टीचर शीरत फातिमा को किया गया सम्मानित

आईएएस बनीं प्राइमरी टीचर शीरत फातिमा को किया गया सम्मानित

177
SHARE

इलाहाबाद की शीरत फातिमा मुस्लिम महिलाओं के लिए एक मिसाल बन गई है. शहर से 30 किलोमीटर दूर घूरपुर थाना क्षेत्र के पवार गांव की रहने वाली शीरत फातिमा ने सिविल सेवा परीक्षा में 810वां रैंक हासिल किया है.

सोमवार को बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय कुशवाहा ने उन्हें सम्मानित किया. उन्होंने कहा कि शीरत फातिमा की इस कामयाबी से जिले के साथ ही बेसिक शिक्षा विभाग का भी मान बढ़ा है. कुशवाहा ने कहा कि जल्द ही विभाग की ओर से भी एक सम्मान समारोह आयोजित किया जाएगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीं पहल संस्था की अध्यक्ष डॉ. वंदना सिंह ने भी शाल ओढ़ाकर शीरत को सम्मानित किया. उन्होंने कहा है कि शीरत ने जिस तरह से नौकरी और परिवार के साथ यह बड़ी उपलब्धि हासिल की है, वो दूसरी महिलाओं के लिए एक मिसाल है.

शीरत फातिमा ने कहा कि मुस्लिम महिलाओं के साथ-साथ सभी धर्मों की महिलाओं को आगे आना चाहिए. आज के दौर में कोई भी काम मुश्किल नहीं है सिर्फ आत्म-विश्वास होना चाहिए. इस कामयाबी के पीछे शीरत ने अपने परिवारवालों का सहयोग बताया. शीरात ने कहा कि सरकार की तरफ से जो भी जिम्मेदारी उनको मिलेगी वह बाखूबी निभाएंगी.

बता दें कि, मध्य परिवार से ताल्लुक रखने वाली शीरात फातिमा अपने 4 भाई-बहनों में सबसे बड़ी हैं. कुछ समय पहले ही उसकी शादी हुई है. शीरत फातिमा सरकारी स्कूल में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात हैं. फातिमा की इस कामयाबी पर पूरे परिवार में जश्न का माहौल है.

Loading...