अयोध्या के हिंदू बहुल गांव में चुना गया मुस्लिम हाफिज को प्रधान

जहां देश में हिंदू-मुसलमान के नाम पर फिज़ाओं में जहर घोलने की साजिश जारी है। वहीं दूसरी और अयोध्या के एक हिंदू बहुल गांव ने एक मुस्लिम हाफिज को अपना प्रधान चुनकर बड़ी मिसाल पेश की है। अयोध्या के राजापुर गांव के  हिंदू समुदाय ने हाफिज अजीमुद्दीन को अपना प्रधान चुना है।

जानकारी के अनुसार, 600 वोटों वाले राजापुर गांव में सिर्फ 27 मुस्लिम वोटर है। बावजूद हाफिज अजीमुद्दीन ने प्रधान के लिए नामांकन किया। उन्होने बताया कि ये 27 वोटर भी उनके ही रिश्तेदार है। गांव में उनका ही एकलोता मुस्लिम घर है। उन्होने कहा कि अपने हिंदू भाइयों की और से ईद पर प्रधानी उन्हे तोहफे में मिली है।

हाफिज अजीमुद्दीन के पास मदरसे से आलिम और हाफिज की डिग्री है। वो 10 वर्ष तक एक मदरसे के अध्यापक भी रह चुके हैं और अब अपने परिवार के साथ गांव में ही खेती करते हैं।  अजीमुद्दीन कहते हैं कि गांव के लोगों ने उनपर जो विश्वास जताया है, वो उसके लिए आभारी हैं।

गांव के किसान शेखर साहू कहते हैं कि इस बार लोगों ने धर्म को नहीं, इंसान को देखकर अपना वोट डाला है। ये बात सही है कि हम सभी हिंदू धर्म को मानते हैं, लेकिन हमने मुस्लिम प्रधान को चुनकर ये साफ संदेश की कोशिश की है कि हम सभी धर्मों को समान रूप से सम्मान देते हैं।

अयोध्या मस्जिद ट्रस्ट के सचिव अतहर हुसैन ने अजीमुद्दीन को सांप्रदायिक भाईचारे की मिसाल बताया है। हुसैन कहते हैं, अजीमुद्दीन का जीतना ये बताता है कि हिंदुस्तान में तमाम चुनौतियों के बावजूद सभी धर्मों में आपसी प्रेम बरकरार है और यही हमारे देश की असल ताकत है।