योगी सरकार ने कहा – लॉकडाउन 14 अप्रैल को ही खत्म हो जाए, ये फिलहाल जरूरी नहीं

हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को सांसदों और विधायकों से अपील करते हुए कहा था कि 15 अप्रैल से हम लॉकडाउन को खोलेंगे तो जमावड़ा या भीड़ न होने पाए। इसमें आपका सहयोग चाहिए। हालांकि अब योगी सरकार ने 14 अप्रैल को लॉकडाउन से हटाने के फैसले से अपने कदम पीछे ले लिए है।

यूपी के मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने कहा कि जरूरी नहीं है कि 14 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म हो जाए। लोगों को इसके लिए लंबा इंतजार भी करना पड़ सकता है। उन्होने कहा कि कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है खासकर तबलीगी जमात से संबंधित।

उन्होंने कहा कि मैं केवल यह कह सकता हूं कि हम शुरुआती स्टेज में हैं और यह कहना असंभव है कि लॉकडाउन 14 अप्रैल के बाद खुलेगा या नहीं। हम रोज मॉनिटरिंग कर रहे हैं। कुछ जिलों में 100 प्रतिशत लॉकडाउन किए गए हैं। उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में लोगों का समर्थन बहुत महत्वपूर्ण है।

मुख्य सचिव ने कहा कि, ‘हम यह सुनिश्चित करने के बाद ही लॉकडाउन खोलेंगे कि राज्य कोरोना मुक्त है। अगर एक भी व्यक्ति संक्रमित है तो यह बहुत मुश्किल होगा और इसलिए लॉकडाउन के खत्म होने की संभावना कम है।’ बता दें कि उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस से अब तक 227 लोग संक्रमित हो चुके हैं साथ ही दो लोगों की इससे जान भी जा चुकी है।

दरअसल, सीएम योगी ने सभी सांसदों और विधायकों से अपील करते हुए कहा, ‘15 अप्रैल से लॉकडाउन खुलेगा, लेकिन इसमें बाद भी लोगों का जमावड़ा ना लग पाए। उन्‍होंने सभी से इस बारे में सहयोग के साथ, लिखित सुझाव भी मांगा है।’ सीएम योगी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सांसदों, विधायकों और मंत्रियों से बात की।

सीएम का कहना है कि वो 15 से लॉकडाउन खोलने की तैयारी कर रही है। लॉकडाउन पूरी तरह खोलेंगे या नहीं ये हालातों पर निर्भर करेगा, लेकिन हम अपनी तैयारी कर रहे है। इसीलिए सांसदों और मंत्रियों से सुझाव मांगे जा रहे है कि अगर लॉकडाउन खुलता है तो भीड़ एकदम सड़कों पर न आने पाए।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE