सीएम योगी बोले – विवाह कार्यक्रम की दे सिर्फ सूचना, पुलिस नहीं करेगी परेशान

कोरोना संक्रमण के तेजी से फैलने पर यूपी सरकार ने वैवाहिक समारोह में शामिल होने वाले लोगों की संख्या को निर्धारित कर दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने वैवाहिक समारोह को लेकर निर्देश दिया है कि लोग कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। इसके लिए किसी के भी आदेश की कोई जरूरत नहीं है।

सीएम ने गुरुवार को कहा कि, सिर्फ शादी की सूचना देकर COVID-19 प्रोटोकाल और गाइडलाइन के सभी निर्देशों का पालन कर शादी हो सकती है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि बैंड बाजा या अन्य कर्मचारी लोग शादी समारोह में निर्धारित किए गए लोगों की संख्या में शामिल नहीं होंगे यानि ये लोग उनसे अलग रहेंगे। जो निर्धारित संख्या है वो सिर्फ मेहमानों के लिए है।

सीएम योगी ने बताया कि, गाइडलाइन के नाम पर किसी भी तरह का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। लोगों को कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करने के लिए जागरुक करें और बैंड बजाने, डीजे बजाने से रोकने वाले अधिकारियों व पुलिसकर्मियों पर भी एक्शन लिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि वैवाहिक या किसी भी मांगलिक कार्यक्रम के लिए पुलिस या प्रशासनिक अनुमति की कोई आवश्यकता नहीं है। अगर प्रदेश में कहीं से भी समारोहों में पुलिस तथा प्रशासन की तरफ से दुव्र्यवहार की शिकायत आई तो होगी सख़्त कार्रवाई। इसके साथ ही इस प्रकार के किसी भी मामले में अधिकारियों की भी जवाबदेही तय होगी।

सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश के मुताबिक जिलाधिकारी स्वयं शादीस्थल जाकर निरीक्षण करें या फिर अधिनस्थ अधिकारी को भेजकर आदेश का सख्ती से पालन करवाएं। किसी भी शादी में सौ से ज्यादा मेहमान होने पर जुर्माना लगाकर कार्रवाई की जाए। मुख्यमंत्री का बेहद सख्त निर्देश है कि इस मामले में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त न की जाए।