कोरोना को लेकर सीएम योगी ने दिए अधिकारियों को सतर्कता बरतने के निर्देश

बढ़ती कोरोना महामारी पर काबू पाने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वच्छता और सैनिटाइजेशन को बड़े पैमाने पर चलाने की पूरी रूपरेखा बना ली है। उन्होने अधिकारियों को विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश भी दिया है। अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि निर्धारित मानक से कम की प्लास्टिक पर लगे प्रतिबंध को कड़ाई से लागू कराएं।

बुधवार को लोकभवन में पत्रकारों से बातचीत करते हुए अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रत्येक शनिवार और रविवार को स्वच्छता व सैनिटाइजेशन का अभियान पूरे प्रदेश में प्रभावी ढंग से चलाने का निर्देश दिया है।

उन्होंने कहा है कि नोडल अधिकारी इस पर नजर रखें। स्वच्छता और सैनिटाइजेशन के अभियान की सफलता तभी संभव है, जब आम जनता के बीच प्लास्टिक के उपयोग को हतोत्साहित किया जाए। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि शासनादेश का पालन कराते हुए प्रदेश के सभी बाजार सप्ताह में पांच दिन सुबह नौ से रात नौ बजे तक खुलवाना सुनिश्चित करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आकाशीय बिजली से होने वाली जनहानि को रोकने के लिए तकनीक का इस्तेमाल किया जाए। यह तकनीक ऐसी हो, जिससे न्याय पंचायत स्तर पर एलर्ट जारी कर लोगों की जान को बचाया जा सके। उन्होंने मुख्य पशु चिकित्साधिकारियों को गौ आश्रय स्थल का नियमित निरीक्षण करते हुए गौवंश के स्वास्थ्य परीक्षण और हरे चारे की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए।

पूर्वांचल में उर्वरक की उपलब्धता को सुलभ बनाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अपने सरकारी आवास से यूरिया की बिक्री का शुभांरभ किया। उन्होंने कहा कि सरकार कृषि कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है, इसलिए यूरिया की उपलब्धता के साथ किसानों को खेती संबंधित सलाह भी दी जाएगी।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE