सीएम योगी बोले – आजादी के बाद यूपी में प्रति व्यक्ति आय एक तिहाई रह गई

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा कार्यसमिति की बैठक के दौरान अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था का लोहा पूरा देश मानता है।

उन्होने कहा कि कानून व्यवस्था की स्थिति बेहतर हुई है। सिस्टम तो वही है, सबकुछ वही है, कुछ चेहरे बदले हैं और उसने बदलाव करके दिखा दिया है। निवेश की झड़ी लगी है। जिन उद्योपतियों ने यूपी में नहीं आने का संकल्प लिया था, वह अब यहां आ रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 1950 में जब यूपी का गठन हुआ उस समय राज्य का प्रति व्यक्ति आय राष्ट्रीय औसत से अधिक था। 1950-2017 तक आते-आते प्रति व्यक्ति आय राष्ट्रीय औसत का एक तिहाई रह गया। चार साल में हम राष्ट्रीय औसत के करीब पहुंच रहे हैं।

आगामी विधान सभा चुनावों को मिशन 2022 का नाम देते हुए उन्होने कहा, अगले छह-सात महीनों के लिए मिशन मोड में कार्यकर्ता कार्ययोजना को आगे बढ़ाएं। महत्वपूर्ण योजनाओं को लाभार्थियों के मुंह से बुलवाने की जरूरत है। यह आदत डलवानी होगी। बूथ स्तर पर ऐसी कार्ययोजना बनाएं।

सीएम योगी ने कार्यकर्ताओं से कहा कि विपक्षी पार्टियों द्वारा फैलाई जा रही भ्रांतियों व दुष्प्रचार को दूर करना होगा। विपक्ष की नकरात्मकता को हमको दूर करना होगा। सीएम ने कहा कि संगठन की विस्तृत कार्ययोजना पर पूरे मनोयोग से काम करें। भाजपा को मतदाता सूची के पुनरीक्षण पर ध्यान देना होगा। हमारे पास कहने, करने और लोगों के बीच जाने के कई विकल्प हैं।