अलवर हत्याकांड: पुलिस ने भी की थी घंटों घायल अकबर की पिटाई

राजस्थान के अलवर में कथित तौर पर गौरक्षकों के हाथों मारे गए अकबर हत्याकांड में बड़ा खुलासा हुआ है। दरअसल, आरोप है कि अकबर की मौत पुलिस की और से घंटों की गई पिटाई से हुई है।

मामले की सूचना देने वाले नवलकिशोर शर्मा ने बताया कि पुलिस रात को एक बजे घायल अकबर को रामगढ़ थाने में लेकर आई थी। पुलिस ने रात ढ़ाई से तीन बजे तक आरोपी की थाने में पिटाई की थी और 4 बजे बाद थाने में ही उसकी मौत हुई।

नवलकिशोर शर्मा ने बताया कि पुलिस ने घायल अकबर के इलाज में न केवल ढ़ाई से तीन घंटे की देरी की, बल्कि उसे रामगढ़ थाने ले जाकर उसे मारा पीटा भी। खुद पुलिस ने एफआईआर में शर्मा को घटना की सबसे पहले सूचना देने वाला और मौके पर साथ ले जाना बताया है।

एएसआई मोहनसिंह के हवाले से दर्ज एफआईआर में खुद कहा कि उसे रात करीब 12.40 बजे सूचना मिली। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि पुलिस एक बजे भी घायल अकबर को लेकर चली तो महज 4 किमी दूर अस्पताल पहुंचने में 3 घंटे कैसे लग गए।

इससे पहले बीजेपी विधायक आहूजा ने कहा कि लोगों ने उन्हे बताया है कि पुलिसकर्मियों ने थाने ले जाते समय पहले तो अकबर की गोविंदगढ़ मोड़ पर पिटाई की और फिर थाने में ले जाकर डंडों से मारा, जिससे उसके आंतरिक अंगों में चोट आई और वहीं उसकी मौत हो गई।

आहूजा ने कहा कि पुलिस ने 3 घंटे तक अकबर की पिटाई की और जब उसकी हालत बिगड़ने लगी तो सुबह 4 बजे उसे सामान्य अस्पताल में ले जाया गया। वहीं रामगढ़ के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टर हसन अली ने बताया कि पुलिस 4 बजे अज्ञात व्यक्ति को लेकर आई थी जो कि मृत अवस्था में था। समय पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया जाता तो शायद उसे बचाया जा सकता था।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE