अकबर हत्याकांड: सीसीटीवी में आया सच सामने, ASI मोहन सिंह ने भी गलती मानी

अलवर मॉब लिंचिंग केस में राजस्थान पुलिस के झूठ को सीसीटीवी फुटेज ने उजागर कर दिया है।

घटना का एक सीसीटीवी वीडियो सामने आया है, जिसमें अकबर को थाने ले जाने और फिर अस्पताल ले जाने की फुटेज है। सीसीटीवी में दर्ज है कि पुलिस की जीप अकबर को अस्पताल ले जाने के लिए 3.45 am पर नाके को पार करती है। जबकि नवलकिशोर शर्मा ने रात 12 बजकर 41 मिनट पर इस हमले के बारे में पुलिस को सूचना  दे दी गई थी।

इसके अलावा स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र के ओपीडी रजिस्‍टार के मुताबिक रकबर को सुबह 4 बजे वहां लाया गया था। इसका अर्थ ये है कि 6 किमी की दूरी तय करने में पुलिस को 3 घंटे लगे थे। पुलिस की जीप मे 2 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दूरी तय की।

इसी बीच एक अनौपचारिक बातचीत में एएसआई मोहन सिंह ने अपनी गलती भी स्वीकार ली है। उसने कहा कि हां साहब मैंने तो गलती कर दी…कैसे भी मान लो…अब चाहे सजा दो या छोड़ दो आपकी मर्जी।

उधर गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने इस मामले में तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन भी कर दिया है। जो इस मामले की जल्द से जल्द जांच पूरी कर रिपोर्ट मुख्यालय को सौंपेगा।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE