मध्य प्रदेश: 16 बागियों के इस्तीफे मंजूर, कमलनाथ भी दे सकते है अपना इस्तीफा

सुप्रीम कोर्ट द्वारा 20 मार्च को शाम 5 बजे फ्लोर टेस्ट कराने के आदेश जारी करने के बाद मध्य प्रदेश विधानसभा स्पीकर ने 16 बागी विधायकों के इस्तीफे मंजूर कर लिए है। वहीं कमलनाथ ने शुक्रवार दोपहर 12 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है। सूत्रों के मुताबिक, कमलनाथ इस कॉन्फ्रेंस में इस्तीफे का ऐलान कर सकते हैं।

इससे पहले कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने एक टीवी न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि 22 विधायकों के इस्तीफे के बाद कमलनाथ सरकार के पास नंबर नहीं है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि पैसे और सत्ता के दमपर बहुमत वाली सरकार को अल्पमत में लाया गया है।

मध्यप्रदेश विधानसभा के प्रमुख सचिव अवधेश प्रताप सिंह ने कहा, ‘मध्य प्रदेश विधानसभा का विशेष सत्र 20 मार्च को दोपहर दो बजे बुलाया गया है। यह सत्र शाम पांच बजे तक चलेगा।’ उन्होंने कहा कि यह सत्र उच्चतम न्यायालय के आदेश की आज्ञा का पालन करते हुए बुलाया गया है।

वहीं, बीजेपी नेता शिवराज सिंह चौहान ने मध्यप्रदेश के पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर बीजेपी विधायक दल की सुरक्षा की मांग की है। उन्होंने कहा कि माननीय सुप्रीम कोर्ट से पारित आदेशानुसार 20 मार्च, 2020 को शाम 5 बजे तक मध्यप्रदेश विधानसभा में विश्वासमत परीक्षण किया जाना है।

 बता दें कि 22 विधायकों के इस्तीफे के बाद मध्य प्रदेश में कांग्रेस गठबंधन के पास सिर्फ 99 विधायक बचे हैं, जबकि बहुमत के लिए 104 का आंकड़ा चाहिए। वहीं, भारतीय जनता पार्टी के पास 106 विधायक हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री कमलनाथ फ्लोर टेस्ट में जाने की बजाय उससे पहले ही अपना इस्तीफा सौंप सकते हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE