राजस्थान के सियासी संकट पर बोली वसुंधरा – कांग्रेस की कलह की कीमत चुका रही जनता

नई दिल्ली: राजस्थान में जारी सियासी संग्राम को लेकर पूर्व सीएम और बीजेपी नेता वसुंधरा राजे सिंधिया का बड़ा बयान आया है। जिसमे उन्होने कहा कि कांग्रेस की अंदरूनी कलह का खामियाजा राज्य की जनता भुगत रही है और वे लोग (कांग्रेसी) बीजेपी पर सारा दोष मढ़ना चाह रहे हैं।

कांग्रेस की ओर से लगाए जा रहे बीजेपी नेताओं पर विधायकों की खरीद फरोख्त के आरोपों पर उन्होंने कहा कि इस विवाद में बीजेपी को बेवजह घसीटने की जरूरत नहीं है। उन्होंने ट्वीट किया,‘‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस की आंतरिक कलह का नुकसान आज राजस्थान की जनता को उठाना पड़ रहा है।’’

पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने लिखा, “ऐसे समय में जब राज्य में कोरोनावायरस के चलते 500 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और इस संक्रमण के कारण बीमार लोगों की संख्या 28500 के पार पहुंच गई है। ऐसे समय में जब किसानों की खेती पर टिड्डियों की हमला हो रहा है। ऐसे समय में जब राज्य में महिलाओं के खिलाफ अत्याचार चरम पर है। ऐसे समय में जब राज्य में बिजली का भीषण संकट देखने को मिल रहा है। अभी तो मैंने कुछ ही समस्याओं को गिनाए हैं जिनका राजस्थान की जनता सामना कर रही है। इसमें बीजेपी को बीच में खींचना और बीजेपी नेताओं पर कीचड़ उछालने का कोई मतलब नहीं है।”

इससे पहले वसुंधरा राजे के करीबी विधायक कैलाश मेघवाल ने कहा था कि चुनी हुई सरकार को खरीद खरीद फरोख्त कर गिराने की साजिश बिल्कुल गलत है। बीजेपी चाल चरित्र और नैतिकता वाली पार्टी है ऐसे में हॉर्स ट्रेडिंग के जरिए सरकार गिराने की साजिश हो रही है जिसे मैं सही नहीं मानता हूं। उन्होने एक खत भी लिखा, जिसमे कहा गया कि जिस प्रकार का माहौल सरकार गिराने को लेकर पिछले दो महीने से बना हुआ है, हॉर्स ट्रेडिंग हो रही है, आरोप-प्रत्यारोप लग रहे हैं, वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है।

मेघवाल ने आगे लिखा, राजस्थान में आजादी के बाद सरकारें कई बार बदलीं और विधानसभा के अंदर भी पक्ष-विपक्ष के बीज जमकर बहस भी हुई। स्वर्गीय मोहनलाल सुखाडिया, स्व. श्री भैरो सिंह शेखावत से लेकर अशोक गहलोत हों या वसुंधरा राजे, इन सभी के समय बहस हुई है। परंतु सत्ताधारी पार्टियों ने विपक्षी पार्टियों से मिलकर सरकार गिराने के षडयंत्र जो आज हो रहे हैं, ऐसा कभी नहीं हुआ।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE