हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन पर कांग्रेस नेता का तंज़ – ‘यूएस ने कर दी गलती मंगवा सकता था गौमूत्र’

कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज को लेकर फिलहाल मलेरिया की दवा Hydroxychloroquine को बड़ी कारगर माना जा रहा है। हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस दवा के निर्यात पर प्रतिबंध को हटाने और दवा भेजे जाने को लेकर भारत को धमकी दी थी। जिसके बाद इस दवा के निर्यात पर से प्रतिबंध हटा लिया गया है।

दवा उद्योग के संगठन आईपीए ने यह बात कही।इंडियन फार्मास्युटिकल्स अलायंस (आईपीए) के महासचिव सुदर्शन जैन ने कहा, ‘‘अमेरिका को हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन का निर्यात अगले हफ्ते से शुरू हो सकता है। भारतीय दवा कंपनियां घरेलू जरूरतों और निर्यात बाजार की प्रतिबद्धताओं- दोनों को पूरा करने के लिए तैयार हैं।’

इस मामले में अब कांग्रेस नेता डॉक्टर उदित राज ने तंज़ कसा है। कांग्रेस नेता ने शनिवार (11 अप्रैल, 2020) को ट्वीट कर कहा, ‘अमेरिका ने गलती की क्या?’ ट्वीट के एक साथ इमेज भी शेयर की गई, जिसमें लिखा था, ‘अमेरिका ने हाइड्रोक्लोरोक्विन (hydroxychloroquine) ही क्यों मंगवाई। पतंजलि का गौमूत्र भी तो मंगवा सकता था।’

बता दें कि अखिल भारतीय हिंदू महासभा (Akhil Bhartiya Hindu Mahasabha) ने दावा किया कि गोमूत्र पीने से कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा जा सकता है। हिंदू महासभा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष चक्रपाणी महाराज ने केंद्र सरकार से मांग की है कि जो भी विदेशी नागरिक भारत आता है, उसे पहले एयरपोर्ट पर गोमूत्र पिलाने के साथ गोबर में स्‍नान कराया जाए, उसके बाद ही उसे देश में घूमने की इजाजत दी जाए।

इतना ही नहीं हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) के लोग कह रहे हैं, “हम अपनी सरकार से मांग करते हैं कि एयरपोर्ट पर शराब बैंन करिये और उसकी जगह गोमूत्र रखवाएं और गोबर लगवाएं। ट्रंप को भी गोमूत्र भेज रहे हैं।  अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप  जी (Donald Trump) को भिजवाया जाएगा, प्रधानमंत्री जी के पास जा रहे हैं, प्रधानमंत्री जी तो स्वंय पीते हैं।”


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE