महबूबा मुफ्ती बोली – पाकिस्तान से बातचीत करने को लेकर पीएम मोदी को दी बधाई

पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने गुरुवार को कहा कि उन्होंने सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा है कि जम्मू-कश्मीर के लोग जिस तरह से अनुच्छेद 370 को “असंवैधानिक, अवैध और अनैतिक” तरीके से समाप्त किया गया, उसे स्वीकार नहीं करते हैं।

साढ़े तीन घंटे की लंबी बैठक के बाद मीडियाकर्मियों से बात करते हुए, मुफ्ती ने कहा, “5 अगस्त, 2019 के बाद जम्मू-कश्मीर के लोग बहुत मुश्किल में हैं। वे गुस्से में हैं, परेशान हैं और भावनात्मक रूप से टूट गए हैं। वे अपमानित महसूस करते हैं। मैंने प्रधानमंत्री से कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोग जिस तरह से अनुच्छेद 370 को असंवैधानिक, अवैध और अनैतिक रूप से निरस्त किया गया, उसे स्वीकार नहीं करते हैं।”

पीडीपी प्रमुख ने कहा कि वे शांति से संघर्ष करेंगे, भले ही इसमें महीनों या साल लग जाएं। उन्होने कहा, “जम्मू और कश्मीर के लोग संवैधानिक, लोकतांत्रिक, शांतिपूर्वक संघर्ष करेंगे। महीने हो या साल, हम जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को बहाल करेंगे क्योंकि यह हमारी पहचान का मामला है। हमें यह पाकिस्तान से नहीं मिला, यह हमारे देश ने हमें दिया, जवाहरलाल नेहरू, सरदार पटेल ने।”

अगस्त 2019 में अनुच्छेद 370 को निरस्त करने और जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के बाद क्षेत्र के राजनीतिक नेताओं के साथ केंद्र के बीच यह पहली बैठक थी। पीडीपी अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने पाकिस्तान के साथ बातचीत करने के लिए प्रधान मंत्री को बधाई दी, जिससे केंद्र शासित प्रदेश में घुसपैठ कम हो गई, और कहा कि सरकार को रुके हुए व्यापार के बारे में बात करनी चाहिए।

उन्होने कहा, “मैंने उन्हें बधाई दी कि उन्होंने पाकिस्तान से बात की और इससे यु’द्धविराम हुआ, घुसपैठ कम हुई। जम्मू-कश्मीर की शांति के लिए अगर उन्हें पाकिस्तान से दोबारा बात करनी है तो उन्हें करनी चाहिए। उन्हें पाकिस्तान से उनके साथ व्यापार के बारे में भी बात करनी चाहिए जो रुक गया है, यह कई लोगों के लिए रोजगार का स्रोत है।