विधायकों की खरीद के आरोप पर बोले शिवराज – ‘जो कुछ भी होता है तो हो जाने दो’

भोपाल. मध्यप्रदेश में 14 माह पुरानी कांग्रेस सरकार को गिराने के आरोपो पर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने आज दावा करते हुए कहा कि उनकी पार्टी ऐसी किसी भी गतिविधि में शामिल नहीं है। लेकिन अगर कांग्रेस के बोझ से ही कुछ होता है तो हो जाने दो।

बता दें कि कांग्रेस विधायक वैद्यनाथ कुश्‍वाहा ने भी दावा किया है कि शिवराज सिंह चौहान, नरोत्तम मिश्रा और नरेंद्र तोमर ने उन्‍हें 25 करोड़ रुपए का ऑफर किया था। अब इस पर पूर्व मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बयान आया है। चौहान ने कहा कि दिग्‍विजय सिंह झूठ बोलकर सनसनी फैलाने के लिए जाने जाते रहे हैं।

चौहान ने कहा, “शायद उनका काम पूरा नहीं हुआ और वह कमलनाथ पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहे हैं। उसके दिमाग में क्या चलता है, यह कोई नहीं जानता। वह हमेशा कोई न कोई चाल चलते रहते हैं।” उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस में इतने गुट हैं कि आपस में ही मारा-मार मची हुई है। आरोप हम पर लगाते हैं इसका अर्थ क्या है? हमने पहले भी कहा है कि भाजपा ऐसी किसी गतिविधि में शामिल नहीं है।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बीजेपी नहीं चाहती कमलनाथ सरकार गिरे, लेकिन अगर सरकार खुद ब खुद गिर रही है तो हम क्‍या करें। शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा कि कमलनाथ सरकार में किसान, बच्‍चे, माताएं-बहनें सब परेशान हैं। पूरा प्रदेश त्राहि-त्राहि कर रहा है। कांग्रेस के विधायक सरकार से खुद परेशान हैं।

अचानक दिल्ली प्रवास को लेकर पूछे गए सवाल पर चौहान ने कहा, “मैं पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हूं और दिल्ली आता-जाता रहता हूं. जहां तक दिग्विजय सिंह की बात है तो उन्हें इससे क्या लेना-देना। दिग्विजय सिंह का काम सिर्फ आरोप लगाना है। कांग्रेस में कई गुट हैं और उनमें आपस में मारामारी मची है और आरोप हम पर लगाते हैं।”


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE