सचिन पायलट के बगावती तेवर जारी, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से कर सकते है मुलाक़ात

डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बगावती तेवर अपनाए जाने के बाद राजस्थान की गहलोत सरकार पर संकट में आ गई है। कांग्रेस के 30 विधायक सचिन पायलट के समर्थन में है। माना जा रहा है कि अशोक गहलोत की सरकार अल्पमत में है। इसी बीच खबर आ रही हैं कि सचिन पायलट आज भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात कर सकते हैं।

दूसरी और कांग्रेस महासचिव अविनाश पांडे ने दावा किया है कि राज्य के 109 विधायक मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समर्थन में हैं और उन्होंने इस संबंध में एक समर्थन पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं। उन्होंने कहा कि कुछ और विधायक भी मुख्यमंत्री गहलोत के संपर्क में हैं और वे भी समर्थन पत्र पर हस्ताक्षर कर देंगे।

इसी बीच कांग्रेस छोड़ कर बीजेपी का दामन थामने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राजस्थान के घटनाक्रम पर ट्वीट कर सचिन पायलट के प्रति अपना समर्थन जताया है। उन्होंने ट्वीट कह कहा, “अपने पुराने सहयोगी सचिन पायलट को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से दरकिनार और सताए जाने को लेकर दु:खी हूँ। यह दिखाता है कि कांग्रेस में प्रतिभा और क़ाबिलियत के लिए बहुत कम जगह है।”

वहीं अब सोमवार सुबह विधायक दल की बैठक होने वाली है जिसके लिए कांग्रेस पार्टी ने व्हिप जारी किया है। इसमें कहा गया है कि अगर कोई भी कांग्रेस का विधायक बैठक में नहीं आता है तो उसकी सदस्यता जाएगी। कांग्रेस के प्रभारी महासचिव अविनाश पांडे ने कहा है कि 109 विधायकों का समर्थन पत्र मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पास पहुंच गया है और वे सोमवार सुबह मीटिंग में आएंगे। बाकी लोग अगर नहीं आते हैं तो उनकी सदस्यता चली जाएगी।

इस पूरे मामले पर बोलते हुए रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि हम किसी व्यक्ति की बात नहीं कर रहे हैं, हमें नहीं लगता है कि कोई नहीं आएगा। हालांकि नेताओं का इशारा साफ तौर पर सचिन पायलट की तरफ माना जा रहा है।समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार सचिन पायलट सोमवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं होंगे।सचिन ने कहा है कि उनके साथ कांग्रेस के 30 विधायक हैं और अशोक गहलोत की सरकार अल्पमत में है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE