सरकारी एजेंसियों से मिल रही सहायता को आरएसएस अपना बताकर बांट रही: अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने मंगलवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को निशाने पर लेते हुए कहा कि स्वयंसेवी संस्थाओं और सरकारी एजेंसियों से मिल रही सहायता को आरएसएस अपना बताकर बांट रही है।

अखिलेश यादव ने रविवार को कहा कि प्रदेश में कम्युनिटी किचन और आरएसएस के भंडारे में कोई फर्क नहीं दिखता है। स्वयंसेवी संस्थाओं और सरकारी संस्थानों से प्राप्त खाद्य सामग्री को आरएसएस अपना बताकर और मोदी थैली में भरकर कुछ भाजपाई परिवारों में वितरित करना घटिया मानसिकता को प्रदर्शित करता है।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने सवाल उठाया कि संघ की कुटुम्ब शाखा कैसे लगाई जा रही है? भाजपा की सरकार क्या संघ का एजेंडा बढ़ाने के लिए ही चुनी गई है? इसके साथ ही उन्होने भाजपा पर मुसलमानों के खिलाफ नफरत पैदा करने का आरोप लगाया, कहा कि सत्ताधारी पार्टी के सदस्य उनके बुनियादी प्रशिक्षण का पालन कर रहे हैं।

बुलंदशहर में साधुओं की ह’त्या को लेकर उन्होने कहा, त्तर प्रदेश के बुलंदशहर में मंदिर परिसर में दो साधुओं की नृशंस ह’त्या अति निंदनीय व दुखद है। इस प्रकार की ह’त्याओं का राजनीतिकरण न करके, इनके पीछे की हिंस’क मनोवृत्ति के मूल कारण या आपराधिक कारण की गहरी तलाश करने की आवश्यकता होती है। इसी आधार पर समय रहते न्यायोचित कार्रवाई करनी चाहिए।

इसके अलावा उन्होने कहा कि कोरोना ड्यूटी (Corona Duty) में लगे उन हर तरह के स्टाफ को तत्काल पीपीई किट दिए जाएं, जिनका लोगों से ज्यादा संपर्क होता है। जैसे सभी स्वास्थ्यकर्मी, पुलिस, आपूर्ति सेवा में लगे ड्राइवर और राशन डीलर, इनकी नियमित जांच होनी चाहिए।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE