दिग्विजय सिंह की पीएम मोदी से मांग – NRC की जगह बनाए बेरोजगारों का रजिस्टर

एनआरसी को लेकर देशभर में मचे बवाल के बीच कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राष्ट्रीय रजिस्टर ऑफ सिटीजन (NRC) के बजाय ‘नेशनल रजिस्टर ऑफ एजुकेटेड अनइंप्लॉयड इंडियंस सिटीजन’ बनाने की मांग की।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सुझाव देते हुए कहा, ‘नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस की जगह देश में नेशनल रजिस्टर ऑफ एजुकेटेड अनइंप्लॉयड इंडियन सिटिजंस तैयार किया जाना चाहिए।’ उन्होंने कहा कि यह एक एकजुटता का एजेंडा होगा, जबकि एनआरसी विभाजनकारी एजेंडा है।

उन्होंने ट्वीट करके कहा, ‘हमारे पास हमारे पीएम के लिए एक बहुत ही सकारात्मक सुझाव है। एनआरसी जो पूरे देश में सामाजिक अशांति का कारण बना है उसके बजाय उन्हें ‘नेशनल रजिस्टर ऑफ एजुकेटेड अनइंप्लॉयड इंडियंस सिटीजन’ तैयार करना चाहिए। लेकिन वह ऐसा नहीं करेंगे क्योंकि यह एक विभाजक एजेंडा नहीं होगा! यह एक एकीकृत एजेंडा होगा।’

अदनान सामी पर भी बोल चुके हैं दिग्विजय सिंह

दिग्विजय सिंह ने पिछले दिनों कहा था कि अदनान सामी को नागरिकता की सिफारिश करने के लिए मेरी आलोचना की गई थी। मुझे खुशी है कि उन्हें नागरिकता मिली और पद्म श्री पुरस्कार भी मिला। यदि सरकार एक पाकिस्तानी मुस्लिम को नागरिकता दे सकती है, तो नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लाने की क्या जरूरत है? इसे हिंदुओं और मुसलमानों के बीच दरार पैदा करने के लिए लागू किया गया है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE