राहुल गांधी ने आरोग्य सेतु एप पर उठाए सवाल, बीजेपी ने भी किया पलटवार

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोग्य सेतु ऐप को लेकर मोदी सरकार को निशाने पर लिया है। राहुल गांधी ने कहा कि आरोग्य सेतु एप एक प्रभावशाली सर्विलांस सिस्टम है, जिसे प्राइवेट ऑपरेटर को आउटसोर्स किया गया है और कोई संस्थागत निगरानी नहीं है, इससे डेटा सुरक्षा और प्राइवेसी को लेकर गंभीर चिंता हो रही है।

राहुल गांधी ने शनिवार शाम को ट्वीट किया, ‘आरोग्य सेतु एप एक आधुनिक सर्विलांस सिस्टम है। कोई संस्थागत निगरानी नहीं है। इस एप के कारण कई प्रकार की सुरक्षा संबंधी प्रश्न खड़े हो रहे है। आज नई तकनी​क हमें सुरक्षित रहने में मदद कर सकती है। लेकिन भय का लाभ उठाकर लोगों को उनकी अनुमति के बगैर ट्रेक नहीं किया जाना चाहिए।’

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी के दावे को झूठा बताया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘रोज एक झूठ। आरोग्य सेतु एक मजबूत साथी है जो लोगों की सुरक्षा कर रहा है। यह मजबूत डेटा सुरक्षा ढांचे से लैस है। जिन्होंने जीवन भर सर्विलांस किया है वो ये नहीं जानते कि कैसे तकनीक के सहारे लोगों का भला किया जा सकता है।’

उन्होंने कहा, ‘आरोग्य सेतु को वैश्विक तौर पर सराहा जा रहा है। यह एप किसी प्राइवेट ऑपरेटर से आउटसोर्स नहीं है। मिस्टर गांधी यही समय है कि आप अपने ट्वीट्स को भारत को न समझने वाले अपने क्रोनियों से आउटसोर्स कराना बंद कर दें।’

इससे पहले कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला भी आरोग्य सेतु एप को लेकर सवाल उठा चुके हैं। उनका कहना था कि आरोग्य सेतु एप के संदर्भ में कई विशेषज्ञों ने निजता का मुद्दा उठाया है। कांग्रेस इस विषय पर विचार कर रही है और अगले 24 घंटे में समग्र प्रतिक्रिया देगी।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE