ज्योतिरादित्य सिंधिया पर बोले सलमान खुर्शीद – ‘लोग डूबते जहाज छोड़ते हैं’

नई दिल्ली: ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस से इस्तीफा देने को लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने बुधवार को कहा कि यह पहली बार नहीं है जब पार्टी बुरे समय में है, लेकिन लोग डूबते जहाज को छोड़ देते हैं और समय बदलने पर वापस लौट जाते हैं।

खुर्शीद ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा, ‘पार्टी से इतना सम्मान मिलने के बाद सिंधिया को थोड़ा धैर्य रखना चाहिए। यह पहली बार नहीं है जब पार्टी बुरे समय में है, लोग डूबते जहाज को छोड़ देते हैं, दोस्तों बुरे समय में छोड़ देते हैं। समय बदल जाने पर लोग चले गए और फिर लौट आए।”

उन्होने कहा, “मुझे विश्वास है कि हमारी पार्टी ने सिंधियाजी को सम्मान और मान्यता दी है। पार्टी के वरिष्ठ सदस्यों के साथ उनके करीबी संबंध थे। उनके पार्टी छोड़ने के फैसले को देखकर दुख हुआ। उन्हें हमें पार्टी की विफलता के बारे में सूचित करना चाहिए था। मुझे नहीं लगता कि उन्हें भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में समान सम्मान और मान्यता मिलेगी।

कमलनाथ सरकार के भविष्य पर उन्होने कहा, “कांग्रेस इस समय जो भी परिस्थितियाँ हैं, उनका सामना करेगी। तस्वीरको स्पष्ट होने दें और फिर हम देखेंगे कि हम क्या कर सकते हैं। जैसा कि हम कहते हैं, राजनीति में एक सप्ताह एक लंबा समय होता है। हम अपनी उंगलियों को गिनते रहते हैं। हम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करेंगे और हमें उम्मीद है कि मप्र सरकार बचेगी और कमलनाथ सरकार का नेतृत्व करेंगे। ”

बता दें कि इसके पहले 18 सालों तक कांग्रेस पार्टी में रहने के बाद इस्‍तीफा देकर बीजेपी का दामन थामने वाले ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया को कुछ ही घंटे के भीतर राज्यसभा का टिकट भी मिल गया। बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने के बाद सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस पार्टी बदल चुकी है और अब उसके जरिए जनसेवा संभव नहीं थी।

सिंधिया की बगावत के बाद मध्य प्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार मुश्किल में आ गई क्योंकि सिंधिया खेमे के 22 विधायकों ने भी इस्तीफा दे दिया है। सिंधिया के इस्तीफे के बाद राहुल गांधी ने कहा कि वह अकेले नेता थे जो बेधड़क मेरे घर में आ सकते थे।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]