राम मंदिर ट्रस्ट की घोषणा पर बोले ओवैसी – बाबरी मस्जिद की शहादत को भूलने वाले नहीं

नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार द्वारा अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाए जाने की घोषणा पर आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने सवाल उठाते हुए कहा कि हम बाबरी मस्जिद की शहादत को भूलने वाले नहीं है।

बता दें कि बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में राम मंदिर ट्रस्ट बनाने ऐलान किया है, इस ट्रस्ट का नाम ‘श्री राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र’ रखा गया है, लोकसभा में पीएम ने इसके साथ ही अयोध्या में सरकार द्वारा कब्जाई गई 67 एकड़ जमीन को भी ट्रस्ट को देने की बात की है।

पीएम मोदी की घोषणा पर सवाल उठाते हुए ओवैसी ने कहा कि संसद का सत्र 11 फरवरी को समाप्त हो रहा है। यह घोषणा 8 फरवरी के बाद की जा सकती है। ऐसा लगता है कि बीजेपी दिल्ली चुनावों को लेकर चिंतित है। उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद के विध्वंस को हम भूलने वाले नहीं है।

ओवैसी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने अगर कार सेवा की इजाजत नहीं देता तो मस्जिद वहां नहीं टूटती। उन्होंने कहा कि हम अपनी आने वाली पीढ़ी को बताएंगे कि कैसे बाबरी मस्जिद टूटी है।

ओवैसी ने कहा कि जिन लोगों ने बाबरी मस्जिद का ढांचा ढहाया था, उन्हें ही मंदिर बनाने का काम सौंपा जा रहा है। बाबरी मस्जिद के विध्वंस को आने वाली नस्लों को भूलने नहीं दिया जाएगा।

ओवैसी ने कहा, ‘बाबरी मस्जिद को न तो हम भूलेंगे और न आने वाली पीढ़ियों को भुलाने दिया जाएगा।’ उन्होंने इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट को बाबरी मस्जिद को ढहाने के लिए जिम्मेदार ठहरा दिया।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE