राजस्थान हाईकोर्ट ने स्पीकर को 24 जुलाई तक बागी विधायकों पर कार्रवाई से रोका

राजस्थान हाई कोर्ट से सचिन पॉयलट गुट के बागी विधायकों को कुछ दिन की और राहत मिल गई है। राजस्थान हाईकोर्ट (Rajasthan High Court) ने 24 जुलाई तक स्पीकर को कार्रवाई से रोक दिया है।

पार्टी व्हिप के उल्लंघन के मामले में सचिन पायलट समेत कांग्रेस के 19 बागी विधायकों को थमाये गए नोटिस को लेकर आज हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। कोर्ट ने तब तक स्पीकर को भी कोई कार्रवाई नहीं करने का आग्रह किया है। पॉयलट गुट के लिए सुनवाई में जाने माने वकील हरीश साल्वे और मुकुल रोहतगी, जबकि स्पीकर के लिए अभिषेक मनु सिंघवी ने जिरह की।

इसी बीच अब राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने निवास पर विधायकों की बैठक बुलाई है। इस बैठक में शामिल होने के लिए विधायक फेयरमोंट होटल से निकलकर सीएम आवास जाएंगे। वहीं कांग्रेस के एक विधायक गिरिराज सिंह ने आरोप लगाया है कि राज्य सभा चुनाव के दौरान बीजेपी को वोट करने के लिए पायलट ने उन्हें 35 करोड़ देने की पेशकश की थी।

इन आरोपों पर सचिन पायलट ने कहा कि वे आधारहीन आरोपों से दुखी ज़रूर हूं लेकिन हैरान नहीं। पायलट के मुताबिक उनकी छवि को ख़राब करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने आशंका जताई है कि उनकी छवि को ख़राब करने के लिए और भी आरोप लगाए जा सकते हैं। राजस्थान के कांग्रेसी विधायक के आरोप पर सचिन पायलट ने कहा है कि वे उनके ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई करेंगे।

वहीं आज सुबह 11 बजे जयपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई. यह बैठक होटल फेयरमोंट में हुई। इस होटल में सरकारी खेमा डटा हुआ है। कांग्रेस विधायक दल की बैठक सीएम अशोक गहलोत की अध्यक्षता में हुई। बैठक में पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता भी मौजूद रहे।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE