देवेंद्र फडणवीस बोले – फिर बनाएंगे सरकार, महाराष्ट्र की राजनीति में मची हलचल

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस ने सोमवार को बड़ा बयान देते हुए कहा कि राज्य में अगली भाजपा सरकार का शपथ ग्रहण समारोह भोर के बजाय एक उचित समय पर आयोजित किया जाएगा। फडणवीस के इस बयान को उद्धव सरकार की विदाई के तौर पर लिया जा रहा है।

एनसीपी नेता अजित पवार के साथ मिलकर राज्य में 80 घंटे की सरकार बनाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सोमवार को कहा कि यह घटना याद रखने लायक नहीं है। फडनवीस ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा, “हम मौजूदा महाराष्ट्र विकास अघाड़ी सरकार के गिरने के बाद सरकार बनाएंगे। शपथ ग्रहण उचित समय पर होगा। यह सुबह नहीं होगा। लेकिन ऐसी घटनाओं को याद रखने की जरूरत नहीं है।”

विधान परिषद चुनावों पर पूछे गये एक सवाल के जवाब में फडणवीस ने कहा कि कांग्रेस, राकांपा और शिवसेना के एक साथ आने के बावजूद भाजपा अच्छा प्रदर्शन करेगी। मुंबई में शिवसेना ने इस राजनीतिक प्रयोग को लेकर भाजपा पर निशाना साधा।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र में ऐसी भोर अब कभी नहीं आयेगी और एमवीए अगले विधानसभा चुनाव के बाद भी सत्ता पर काबिज रहेगी। उन्होंने पत्रकारों से कहा, ”यह एक सुबह नहीं थी। अंधेरा था। आप (भाजपा) अगले चार वर्षों में कम से कम सत्ता की किरणों को नहीं देखेंगे। (अगले विधानसभा) चुनाव चार साल बाद होंगे। उसके बाद हम फिर से जीतेंगे।”

बता दें कि अल्पकालिक सरकार का गठन भाजपा नेता देवेंद्र फड़नवीस ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता अजीत पवार के समर्थन से किया था। 23 नवंबर, 2019 को फडणवीस और पवार ने मुंबई के राजभवन में क्रमशः मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। हालांकि उनकी सरकार 80 घंटे ही चल पाई थी।