No menu items!
31.1 C
New Delhi
Friday, September 17, 2021

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट से मस्जिदों को नुकसान पहुंचने की आशंका, AAP नेता ने लिखा पीएम मोदी को पत्र

- Advertisement -

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वकांक्षी प्रोजेक्ट सेंट्रल विस्टा को लेकर एक के बाद एक परेशानी सामने आ रही है। हाल ही में दिल्ली हाईकोर्ट ने इस प्रोजेक्ट पर रोक लगाने की मांग करने वाली याचिका को खारिज किया था। अब इस प्रोजेक्ट की जद में कई मस्जिदें आ रही है।

इस मामले में दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष अमानतुल्ला खान ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी। जिसमे उन्होने कहा कि सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट की वजह से किसी भी मस्जिद को नुकसान न पहुंचाया जाए। उन्होने कहा कि प्रोजेक्ट से कई पुरानी मस्जिदों को संभावित नुकसान हो सकता है।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘सेंट्रल विस्टा परियोजना की वजह से मानसिंह रोड पर ज़ाब्ता गंज मस्जिद, उपराष्ट्रपति आवास की मस्जिद और कृषि भवन की मस्जिद को नुकसान पहुँचाया जा सकता है। इस संदर्भ में हम प्रधानमंत्री कार्यालय और हरदीप सिंह जी से चर्चा करेंगे। किसी भी हालत में इन मस्जिदों को नुकसान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।’

पत्र में उन्होने लिखा कि “सोशल मीडिया जैसे फेसबुक आदि पर विभिन्न व्यक्तियों द्वारा साझा की गई आशंका से चिंतित है कि दिल्ली के लुटियंस जोन के भीतर स्थित कुछ मस्जिदें, विशेष रूप से इंडिया गेट के पास जलाशय के अंत में स्थित ज़ब्ता गंज मस्जिद को तोड़ा जा रहा है। सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के चलते कृषि भवन के परिसर और उपराष्ट्रपति आवास परिसर के अंदर स्थित मस्जिदों को भी तोड़ा जा रहा है।

उन्होंने सुनहरी बाग रोड मस्जिद और उसके पास एक मजार और रेड क्रॉस रोड पर जामा मस्जिद का भी उल्लेख किया। खान ने लिखा है कि मई में उत्तर प्रदेश में दो मस्जिदों को गिराए जाने से मुस्लिम समुदाय दुखी है। उन्होंने कहा कि किसी भी मस्जिद या वक्फ संपत्ति के बारे में दिल्ली वक्फ बोर्ड से अबतक कोई संपर्क नहीं किया गया है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article