मोदी सरकार बताएं चीन ने भारत के कितने क्षेत्र पर किया कब्जा: ओवैसी

चीन (China) के साथ सीमा पर चल रहे गतिरोध के बीच एआईएमआईएम चीफ और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार को घेरते हुए सवाल किया कि सरकार की चीन के साथ क्या बात हुई है, सरकार चुप क्यों है?

ओवैसी ने कहा, “भारत के गृह मंत्री और रक्षा मंत्री क्या बता सकते हैं कि चीन से वास्तव में क्या बात चल रही है। उन्हें देश की जनता को बताना चाहिए कि क्या चल रहा है। वे चुप क्यों हैं? हम मांग करते हैं प्रधानमंत्री लोगों को बताएं कि चीन से भारत के कितने क्षेत्र पर कब्जा किया है। बीजेपी और आरएसएस समर्थक इस मुद्दे पर चुप क्यों हैं? ये चीन का का काम करने का तरीका है कि जैसे ही बर्फ पिघलने लगती है वे भारतीय क्षेत्र पर कब्जा करते हैं।”

ओवैसी ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देश में लागू लॉकडाउन (Lockdown) को फिर से ‘असंवैधानिक’ बताया और आरोप लगाया कि सरकार संकट से निपटने में पूरी तरह नाकाम रही है। उन्होंने कहा, ‘अपना संवैधानिक कर्तव्य निभाने में वे नाकाम रहे हैं। उन्होंने लॉकडाउन लागू किया जिसे मैं पहले दिन से असंवैधानिक कह रहा हूं।’

एआईएमआईएम नेता ने दावा किया कि सरकार ने लॉकडाउन के दौरान स्वास्थ्य ढांचे को बेहतर करने का काम नहीं किया और गुजरात में मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत से ज्यादा है। सांसद ने कहा, ‘सरकार पूरी तरह नाकाम रही है…12 करोड़ लोगों की नौकरी जा चुकी है, उन्हें राहत प्रदान करने के लिए कोई योजना नहीं है।’

ओवैसी ने कहा कि देश में जिस तरह संक्रमण बढ़ रहा है यह बड़ी चिंता की बात है। सरकार को संक्रमण रोकने पर ध्यान देना चाहिए। ओवैसी ने आरोप लगाया कि बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) प्रवासी मजदूरों के मुद्दे के समाधान में नाकाम साबित हुए। उन्होंने कहा, ‘बिहार में नीतीश कुमार बहुत लचर तरीके से इससे निपट रहे हैं और वहां पर अब रैली हो रही है।’ ओवैसी ने परोक्ष रूप से रविवार को अमित शाह की ‘डिजिटल रैली’ का हवाला दिया।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE