कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने शशि थरूर से मांगी माफी, अब आपस लेंगे केस

केन्द्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस सांसद शशि थरूर के खिलाफ की गई अपनी टिप्पणी पर माफी मांग ली है। जिसके बाद शशि थरूर ने रविशंकर प्रसाद के खिलाफ मानहानि मामले को वापस लेने का फैसला किया है। शशि थरूर ने ट्विटर पर रविशंकर प्रसाद द्वारा उन्हें लिखे गए पत्र की कॉपी शेयर की है।

ट्वीट में थरूर ने लिखा है कि उन्हें यह ऐलान करते हुए काफी खुशी हो रही है कि रविशंकर प्रसाद के बीच मतभेद पर समझौत हो गया है। समझौते से पहले केरल की एक अदालत ने कांग्रेस नेता एवं तिरुवनंतपुरम से सांसद शशि थरूर द्वारा दायर मानहानि के एक मामले में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को अदालत के समक्ष पेश होने के लिए समन जारी किया था।

थरूर के वकील ने मीडिया को बताया कि मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) ने शिकायत पर संज्ञान लेते हुए मंत्री को दो मई से पहले अदालत के समक्ष पेश होने का आदेश दिया था। बता दें कि रविशंकर प्रसाद ने अपने एक बयान में शशि थरूर को ‘ह’त्या का आरोपी’ बता दिया था। जिसके बाद शशि थरूर ने रविशंकर प्रसाद के खिलाफ मानहानि का दावा किया था।

इससे पहले थरूर ने उन्हें ‘ह’त्या का आरोपी’ कहने के लिए विधि न्याय एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री प्रसाद को कानूनी नोटिस भेजकर बिना शर्त माफी मांगने को कहा था। थरूर ने कहा था कि पुष्कर मामले में जांच पूरी हो गई है और दिल्ली पुलिस ने अतिरिक्त मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अदालत के समक्ष अंतिम रिपोर्ट भी दायर कर दी, जिसमें उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 308 और 498 ए के तहत आरोप पत्र दायर किए गए थे। थरूर ने कहा कि अंतिम रिपोर्ट यह नहीं कहती है पुष्कर की मौ’त ह’त्या थी।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]