ज्योतिरादित्य सिंधिया बनाए गए मध्य प्रदेश से राज्यसभा के उम्मीदवार

नई दिल्‍ली: बीजेपी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को पार्टी में शामिल होने के साथ ही मध्य प्रदेश से राज्यसभा के लिए टिकट दे दिया। इसके अलावा हर्ष चौहान को भी उम्मीदवार बनाया जा सकता है। बता दें कि मंगलवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया।

बीजेपी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक मंगलवार को हुई। इस बैठक में विभिन्न राज्यों में राज्यसभा चुनाव के लिए पार्टी के उम्मीदवारों के नामों पर चर्चा हुई। मध्यप्रदेश में कुल 11 राज्यसभा सीटें हैं जिनमें से तीन सीटें अप्रैल 2020 में रिक्त हो रही हैं। यह तीन सीटें कांग्रेस सांसद दिग्विजय सिंह और बीजेपी के सांसद प्रभात झा व डॉ सत्यनारायण जटिया का कार्यकाल समाप्त होने से रिक्त हो रही हैं। राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की अंतिम तरीख 13 मार्च है। चुनाव 26 मार्च को होगा।

इसके साथ ही राज्यसभा जाने के बाद सिंधिया को मोदी कैबिनेट में कोई अहम मंत्रालय दिया जाएगा। हालांकि ये भी तय नहीं हुआ है कि उन्हें कौन सा मंत्रालय दिया जाएगा। दूसरी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पहली बार ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी छोड़ने पर बयान दिया है। हाल ही में ज्योतिरादित्य के चचेरे भाई ने कहा था कि राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने सिंधिया को मिलने के लिए समय नहीं दिया। इस पर राहुल ने कहा कि कांग्रेस में ज्योतिरादित्य ही एकमात्र व्यक्ति थे, जो मेरे घर कभी भी आ जा सकते थे।

गौरतलब है कि सिंधिया के खेमे के 22 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है. इससे कमलनाथ सरकार पर खतरे के बादल मंडराने लगे हैं। हालांकि सीएम कमलनाथ ने दावा किया है कि उनके पास बहुमत है और चिंता की कोई बात नहीं है। कमलनाथ ने भाजपा पर बागी विधायकों को कैद करने का आरोप भी लगाया।

कांग्रेस की नेता शोभा ओझा ने दावा किया है कि हम सदन में बहुमत साबित करेंगे। सभी कांग्रेस विधायक, जो बेंगलुरू में हैं, उन्हें गुमराह किया गया, वो हमारे साथ हैं। यहां तक कि भाजपा के भी कुछ विधायक हमारे संपर्क में हैं। वहीं गृह मंत्री बाला बच्चन ने दावा किया है कि कांग्रेस सुरक्षित और मजबूत स्थिति में है। सभी मुख्यमंत्री के संपर्क में हैं। सब कुछ ठीक है। हम सदन में बहुमत साबित करेंगे और हमारी सरकार 2023 तक चलेगी।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]