अदनान सामी को पद्मश्री देने पर बोली कांग्रेस – करगिल युद्ध का हीरो सनाउल्लाह घुसपैठिया…..

मुंबई. गायक अदनान सामी को पद्मश्री से नवाजे जाने पर कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने निशाना साधते हुए कहा, ‘भाजपा सरकार की चमचागिरी’ प्रतिष्ठित सम्मान दिए जाने का नया मानदंड बन गया है।

शेरगिल ने यह सवाल भी किया कि ऐसा क्यों हुआ कि करगिल युद्ध में शामिल हुए सैनिक सनाउल्लाह को घुसपैठिया घोषित कर दिया गया, जबकि उस सामी को पद्म सम्मान दिया जा रहा है, जिसके पिता ने पाकिस्तानी वायुसेना में रहकर भारत के खिलाफ गोलाबारी की थी?

उन्होंने सवाल किया, ‘‘पाक के खिलाफ लड़ने वाला भारत का सिपाही घुसपैठिया और पाक वायुसेना के अफसर के बेटे को सम्मान क्यों? क्या पद्मश्री के लिए समाज में योगदान जरुरी है या सरकार का गुणगान? क्या पद्मश्री के लिए नया मानदंड है कि करो सरकार की चमचागिरी, मिलेगा तुमको पद्मश्री?”

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और राकांपा नेता नवाब मलिक ने कहा कि यह साफ-साफ ऐसा मामला है कि यदि पाकिस्तान से आने वाला कोई भी शख्स ‘जय मोदी’ बोल देगा तो क्या उसे भारत की नागरिकता के साथ पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा, ये देशवासियों का अपमान है।

मनसे ने सामी से पुरस्कार वापस लेने की मांग की
राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की सिनेमा इकाई के अध्यक्ष एमे खोपकर ने अदनान से पद्मश्री सम्मान वापस लेने की मांग की है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘अदनान सामी मूल रूप से भारतीय नागरिक नहीं हैं। इसलिए उन्हें कोई पुरस्कार नहीं दिया जाना चाहिए। हम सामी को पद्मश्री दिए जाने का विरोध करते हैं और मांग करते हैं उनसे ये सम्मान वापस लिया जाए।’

बता दें कि पाकिस्तान से आकर भारत में बसे अदनान सामी को 2015 में केंद्र सरकार ने भारत की नागरिकता दी थी।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]