Home राजनीति अमेरिका कौन होता है कहने वाला, कहां से तेल खरीदना है भारत...

अमेरिका कौन होता है कहने वाला, कहां से तेल खरीदना है भारत खुद करेगा फैसला: ओवैसी

3934
SHARE

हैदराबाद। अमेरिका द्वारा भारत को ईरान से तेल आयात बंद करने को लेकर धमकाने पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प को खरी-खरी सुनाई है।

एआईएमआईएम अध्यक्ष ने कहा, ‘अमेरिका कौन होता है भारत को कहने वाला? आप हमें कैसे कह सकते हो कि हम यहां से तेल खरीदे और यहां से नहीं? क्या अमेरिकी राष्ट्रपति को यह कहना चाहिए कि हम कहां से चीजें खरीदें और कहां से नहीं? क्या यह भारत की संप्रभुता में अमेरिकी दखल नहीं है?’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बता दें कि अमेरिका ने भारत, चीन सहित सभी देशों से ईरान से कच्चे तेल का आयात चार नवंबर तक बंद करने की धमकी दी है। मंगलवार को अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा, “इस फैसले में किसी भी देश को छूट नहीं दी जाएगी। भारत और चीन को इस बारे में जानकारी दे दी गई है। इसके बावजूद अगर वहां की कंपनियां ईरान से तेल आयात बंद नहीं करतीं तो उन पर भी अन्य देशों की तरह प्रतिबंध लगाए जाएंगे।”

वहीं अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने भी बुधवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की।  इस मुलाकात में अमेरिकी अधिकारी की बात को दोहराते हुए निक्की हेली ने पीएम मोदी से कहा कि भारत को ईरान के तेल पर निर्भरता को कम करना होगा।

गौरतलब है कि ईराक और सऊदी अरब के बाद भारत ईरान का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है। 2017 से 2018 तक ईरान ने भारत को 18.4 मिलियन टन का कच्चा तेल दिया है।

इस मामले मे पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने प्रतिक्रिया देते हुए गुरुवार को कहा कि सरकार राष्ट्रीय हितों का अनुसरण करेगी। प्रधान ने कहा कि हम अपने हितों के हिसाब से फैसला करेंगे।

Loading...