राज्यपाल के बर्ताव पर भड़के गहलोत, कर दी पीएम मोदी से शिकायत

राजस्थान का सियासी संग्राम अब भी जारी है। राज्यपाल ने विधानसभा सत्र बुलाने के लिए सीएम अशोक गहलोत के प्रस्ताव पर मंजूरी देने से इंकार कर दिया। जिससे अब दोनों के बीच सीधा टकराव देखने को मिल रहा है। इस सबंध में गहलोत ने राज्यपाल कलराज मिश्र की पीएम मोदी से भी शिकायत की है।

उन्होंने कहा कि मैंने कल पीएम मोदी से फोन पर बात की और उनको राज्यपाल कलराज मिश्र के बर्ताव के बारे में बताया। साथ ही सात दिन पहले लिखे खत के बार में भी जानकारी दी। इसके बाद सीएम अशोक गहलोत ने कैबिनेट बैठक बुलाकर 31 जुलाई को विधानसभा का सत्र बुलाने का प्रस्ताव फिर से राज्यपाल कलराज मिश्र को भेजा।

गहलोत पिछले हफ्ते से ही विधानसभा बुलाने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं। इसके लिए वो गवर्नर से कई बार मिल चुके हैं। गहलोत सरकार ने कहा कि उन्हें कोरोना के मद्देनजर 6 बिल को पास कराना है। इस प्रस्ताव को भी कलराज मिश्र ने ठुकरा दिया है और सरकार से कुछ सवाल पूछे हैं।

इससे पहले बीते शुक्रवार को अपने विधायकों को लेकर भी राजभवन पहुंचे थे। यहां उनके साथ पहुंचे विधायकों ने राजभवन के अंदर गहलोत के समर्थन में नारे भी लगाए थे, जिसपर राज्यपाल ने गुस्सा दिखाया था। गहलोत ने अपने विधायकों को राजभवन की परेड पर ले जाने के पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा था कि राज्यपाल ऊपरी दबाव में काम कर रहे हैं।

उन्होंने शुक्रवार को राजस्थान हाईकोर्ट के फैसले के बाद फिर राज्यपाल से मिलने का फैसला किया था। उन्होंने इसके पहले मीडिया से बातचीत में राज्यपाल के जरिए बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा था कि ‘हम विधानसभा सत्र बुलाना चाहते हैं लेकिन हमें मौका नहीं दिया जा रहा है। राज्यपाल ऊपर से आ रहे दबाव के चलते राज्यपाल विधानसभा सत्र बुलाने का निर्देश नहीं दे रहे हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE