महबूबा मुफ्ती बोली – आज अगर आंबेडकर जिंदा होते तो बीजेपी उन्हे भी पाक समर्थक करार दे देती

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्य मंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि आज अगर भारतीय संविधान निर्माता बी आर आंबेडकर जिंदा होते तो बीजेपी उन्हे भी पाकिस्तान समर्थक करार दे देती। उनका ये बयान कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह द्वारा अनुच्छेद 370 पर टिप्पणी किए जाने के बाद खड़े हुए विवाद के बीच आया है।

महबूबा ने कहा कि अंबेडकर द्वारा तैयार किए गए संविधान से मान्यता प्राप्तअनुच्छेद 370 को केंद्र ने पूरी तरह से खत्म कर दिया और जम्मू-कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बना दिया। उन्होने ट्वीट किया, “भला हो भगवान का कि आज अंबेडकर जिंदा नहीं हैं, अन्यथा बीजेपी द्वारा उन्हें भी पाकिस्तान समर्थक करार देकर बदनाम किया जाता।”

दरअसल कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह का शनिवार को एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। जिसमे उन्हे यह कहते हुए सुना जा सकता है कि वह सत्ता में आने पर अनुच्छेद 370 को रद्द करने के फैसले पर फिर से विचार करेंगे।

बीजेपी द्वारा जारी की गई इस ऑडियो क्लिप के अनुसार, उन्होने कहा, “जब अनुच्छेद 370 को निरस्त किया गया था तब कश्मीर में लोकतंत्र नहीं था। अगर कांग्रेस सत्ता में आती है, तो कश्मीर से धारा 370 को रद्द करने के फैसले पर फिर से विचार किया जाएगा”, उन्होंने आगे कहा, “इंसानियत वहां नहीं थी क्योंकि सभी को सला’खों के पीछे डाल दिया गया था, और कश्मीरियत एक ऐसी चीज है जो धर्मनिरपेक्षता के मूल सिद्धांतों में से एक है।”

उन्हें यह कहते हुए सुना गया, “क्योंकि मुस्लिम बहुल राज्य में एक हिंदू राजा था और दोनों एक साथ काम करते थे। वास्तव में कश्मीर में आरक्षण कश्मीरी पंडितों को दिया गया था, इसलिए अनुच्छेद 370 को रद्द करने और जम्मू-कश्मीर के राज्य का दर्जा कम करने का निर्णय एक दुखद निर्णय है। और कांग्रेस पार्टी को निश्चित रूप से इस मुद्दे पर फिर से विचार करना होगा।”