पीएम मोदी से बोले दिग्वियज सिंह – पड़ोसी से कुछ शिक्षा लो, गरीब बांग्लादेश ने भारत को पीछे छोड़ दिया

भारत सतत विकास के लक्ष्यों को हासिल करने में अपने ही पड़ोसियों भूटान, नेपाल, श्रीलंका और बांग्लादेश से भी पिछड़ गया है। भारत ने संयुक्त राष्ट्र के 193 देशों के साथ एजेंडा 2030 को अपनाया था। भारत बीते साल के मुकाबले दो स्थान नीचे गिरकर 117 रैंक पर आया है। सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) के मामले में भारत का स्कोर 100 में 61.9 है।

भारत पर्यावरण रिपोर्ट, 2021 के मुताबिक, भारत की रैंकिंग बीते साल 115 थी, लेकिन भूख के अंत  और खाद्य सुरक्षा, लैंगिक समानता और देश में लचीले बुनियादी ढांचे का निर्माण, समावेशी और सतत औद्योगीकरण और नवाचार को बढ़ावा देने जैसे लक्ष्यों को पाना अब भी चुनौती है।

राज्यवार तैयारियों के बारे में विस्तार से बताते हुए रिपोर्ट में कहा गया कि झारखंड और बिहार 2030 तक सतत विकास लक्ष्यों को पूरा करने के लिए सबसे कम तैयार हैं। झारखंड पांच लक्ष्यों में पीछे है जबकि बिहार सात में हालांकि केरल, हिमाचल प्रदेश और चंडीगढ़ अच्छे स्कोर के साथ इन लक्ष्यों को पाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।

सतत विकास का एजेंडा 2030 संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्य देशों द्वारा 2015 में अपनाया गया था। इसके तहत वर्तमान और भविष्य के लिए धरती और लोगों की शांति और समृद्धि की खातिर किए जा रहे उपायों का रोडमैप देना होता है।

इसी बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होने कहा, “India and Pakistan Are Now Poorer Than Bangladesh – Bloomberg मोदी जी अपने पड़ोसी से कुछ शिक्षा लो। फ़िज़ूलख़र्ची बंद करो मज़दूरों को काम दो और सोशल सेक्टरों (सोशल मीडिया नहीं) शिक्षा व स्वास्थ्य सेवाओं पर अधिक खर्च करो।”