रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पहुंचे लद्दाख, पैंगॉन्ग झील के करीब पैरा कमांडोज का युद्धाभ्यास

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह दो दिवसीय दौरे पर लद्दाख और जम्मू-कश्मीर के दौरे पर लेह के पहुंच चुके हैं, उनके साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे भी हैं। इस दौरान वह लेह में चीन के साथ चल रहे विवाद के दौरान भारतीय सीमा की सुरक्षा व्यवस्था का जाजया ले रहे हैं।

तीनों पैरा ड्रापिंग स्किल देखने के लिए लेह के स्टकना पहुंचे। स्टकना में भारतीय जवान पैरा ड्रापिंग अभ्यास कर रहे हैं, ताकि किसी भी विषम परिस्थिति में तैयार रहा जाए। बता दें कि पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में भारत और चीन की सेनाओं के बीच जब हिंसक झड़प हुई तक आगरा और दूसरी जगहों से पैरा कमांडोज को लद्दाख भेजा गया था।

मामले की गंभीरता को देखते हुए लद्दाख की ऊंची पहाड़ी वाले इलाके जैसे गलवान घाटी, पैंगॉन्ग लेक और दौलत बेग ओल्डी में पैरा कमांडोज की तैनाती की गई थी। दो दिन के दौरे में राजनाथ आज लद्दाख में फॉरवर्ड लोकेशंस का जायजा लेंगे। शनिवार को श्रीनगर जाएंगे।

दो दिवसीय यात्रा पर रवाना होने से पहले राजनाथ सिंह ने कहा कि मैं सीमाओं पर स्थिति की समीक्षा करने और क्षेत्र में तैनात सशस्त्र बल के जवानों के साथ बातचीत करने के लिए जा रहा हूं।

बता दें कि गलवान घाटी में हिं​सक झड़प के बाद जुलाई के पहले हफ्ते में ही राजनाथ सिंह को लेह जाना था, लेकिन तब अचानक उनका दौरा रद्द हो गया था। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद लेह पहुंच गए थे। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने लद्दाख में मौजूद सेना को संबोधित भी किया।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE