गुजरात: रिजॉर्ट में ठहराए गए कांग्रेस विधायक, पुलिस ने दर्ज किया मालिक पर केस

अहमदाबाद. गुजरात में 4 सीटों पर 19 जून को राज्यसभा चुनाव होने हैं। इससे पहले शुक्रवार को कांग्रेस के 3 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया। इसके बाद कांग्रेस ने अपने कुछ विधायकों को नील सिटी रिजॉर्ट में ठहराया है। हालांकि जिस रिजॉर्ट में विधायकों को कांग्रेस ने ठहराया है, उसके मालिक और पूर्व कांग्रेस विधायक इंद्र नील राज्यगुरु के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

मध्य गुजरात के कांग्रेस विधायकों को आणंद जिले में उमेटा गांव के एरिस रिजॉर्ट में ठहराया गया है। यहां 15 से ज्यादा विधायक हैं। इन्हें एकजुट रखने की जिम्मेदारी पार्टी के नेता भरत सिंह सोलंकी को दी गई है। 25 विधायक राजस्थान में आबू रोड स्थित वाइल्डविंड्स रिजॉर्ट पहुंचाए गए हैं। उत्तर जोन के इन विधायकों की जिम्मेदारी कांग्रेस नेता सिद्धार्थ पटेल को सौंपी गई है। करीब 25 विधायक राजकोट के नीलसिटी रिजॉर्ट में ठहराए गए हैं। इनमें ज्यादातर कच्छ-सौराष्ट्र क्षेत्र के हैं।

बताया जा रहा है कि लॉकडाउन में बंद हुआ नीलसिटी रिजॉर्ट खोलने के लिए प्रशासन से अनुमति नहीं ली गई थी। यह रिजॉर्ट कांग्रेस के पूर्व विधायक इंद्रनील राज्यगुरु का है। जानकारी के मुताबिक, राज्यगुरु और रिजॉर्ट के मैनेजर के खिलाफ केस दर्ज किया गया है, लेकिन इस बात की पुष्टि नहीं हुई है।

आबू रोड में गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष अमित चावडा ने संवाददाताओं से कहा,‘‘ ‘कोरोना वायरस संकट के चलते जहां सरकार को लोगो के जीवन को बचाने का काम करना चाहिए वहीं सरकार सरकारी मशीनरी का उपयोग करके जनप्रतिनिधियों को धमकाने और खरीद फरोख्त का काम कर रही है। हमारे विधायक आगामी रणनीति पर विचार करने लिये यहां ठहरे हुए है।’’

बता दें कि पिछले दिनों कांग्रेस विधायक अक्षय पटेल, जीतू चौधरी और ब्रजेश मेजरा ने विधायकी से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद विधानसभा में कांग्रेस के सदस्यों की संख्या 65 रह गई। गुजरात विधानसभा में कुल सीटें 182 हैं, फिलहाल इनमें से 10 खाली हैं। यानी 19 जून को राज्यसभा चुनाव में 172 सदस्य वोट डालेंगे।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE