दिग्विजय सिंह के विधायक भाई ने कहा – CAA कानून बन चुका, स्वीकार कर लेना ही उचित होगा

संशोधित नागरिकता कानून (CAA) पर अपनी पार्टी के रुख से एकदम उलट बयान देते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के छोटे भाई एवं कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने कहा कि जब हमारे पास बहुमत नहीं है तो हमें कानून को मान लेना चाहिए।

गुना जिले की चाचौड़ा विधानसभा से विधायक लक्ष्मण सिंह ने कहा कि CAA कानून बन चुका है। कानून को बदलने के लिए बहुमत चाहिए। यदि हमारे पास बहुमत नहीं है तो हमें उसे मान लेना चाहिए। याद दिला दें कि इससे पहले भी लक्ष्मण सिंह यही बयान दे चुके हैं। इंदौर में एक बार फिर उन्होंने अपने बयान को दोहराया है।
लोकसभा के पूर्व सांसद ने कहा, “संसद किसी एक पार्टी की नहीं, बल्कि सभी राजनीतिक दलों की होती है। जब केंद्र में हमारी (कांग्रेस) सरकार थी, तब हमने भी कई कानूनों में बदलाव किया था।  अगर उस वक्त कोई राज्य सरकार हमारा बनाया कानून लागू नहीं करती, तो हमें कैसा लगता?
मध्यप्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस द्वारा सीएए के विरोध के मद्देनजर सूबे में इसके लागू होने की संभावना पर सिंह ने कहा कि देश में संसदीय प्रणाली है और इस कानून को हर राज्य को लागू करना ही पड़ेगा। कांग्रेस विधायक ने दावा किया कि विदेशी मदिरा की ऑनलाइन बिक्री से सूबे की कानून-व्यवस्था की स्थिति में सुधार होगा और शराब की दुकानों में होने वाले झगड़ों पर रोक लगेगी।
उन्होंने राज्य सरकार की मेजबानी में मार्च के अंत में यहां निजी क्षेत्र के शैक्षणिक संस्थान डेली कॉलेज में होने वाले आईफा अवॉर्ड समारोह का आयोजन स्थल बदले जाने की मांग भी की। उन्होने कहा, परीक्षाओं के समय डेली कॉलेज में इस समारोह का आयोजन उचित नहीं है क्योंकि इससे विद्यार्थियों की पढ़ाई प्रभावित होगी।

    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE