Home राजनीति प्रधानमंत्री को इतिहास की नही जानकारी, सोच ‘ग़ुलामी’ वाली और कांग्रेस को...

प्रधानमंत्री को इतिहास की नही जानकारी, सोच ‘ग़ुलामी’ वाली और कांग्रेस को ‘गाली’

354
SHARE

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को लोकसभा में बोलते हुए कांग्रेस पर कई तीखे हमले किए। राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलते हुए उन्होंने कहा की अगर सरदार पटेल देश के पहले प्रधानमंत्री होते तो आज कश्मीर समस्या पैदा नही होती। मोदी ने यहाँ तक कहा की आपके पापों को देश के 125 करोड़ लोग आज तक भुगत रहे है। मोदी के इस भाषण पर कांग्रेस की और से भी तीखी टिप्पणी आयी है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कांग्रेस के दिग्गज नेता और सांसद आनंद शर्मा ने मोदी पर पलटवार करते हुए कहा की उन्हें इतिहास का ज्ञान नही है। वो उस सोच और विचारधारा के वारिस है जिन्होंने हिंदुस्तान की आज़ादी की लड़ाई में हिस्सा नही लिया। शर्मा ने मोदी को याद दिलाया की जिस संविधान की शपथ लेकर आप प्रधानमंत्री बने उसकी प्रस्तावना में वह प्रस्ताव नेहरु जी ने 1946 में पेश किया था। मोदी की कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी पर की गयी टिप्पणी को उन्होंने दुर्भाग्यपूर्ण बताया।

मीडिया से बात करते हुए आनंद शर्मा ने कहा,’ मुझे पूरा यकीन है कि उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम का इतिहास नहीं पढ़ा है क्योंकि वह उस विचारधारा और सोच के वारिस हैं, जिन्होंने हिंदुस्तान की आजादी के संघर्ष में भाग नहीं लिया। आजादी के संघर्ष के महानायक महात्मा गाँधी जी थे। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की अगुवाई में पंडित जवाहर लाल नेहरु, सरदार बल्लभ भाई पटेल, मौलाना आजाद, राजेन्द्र प्रसाद और अन्य बड़े नेताओं ने संघर्ष में भाग लिया था।’

आनंद शर्मा ने आगे कहा,’ प्रधानमंत्री को देश के इतिहास के बारे में सही जानकारी होनी चाहिए।
जिस संविधान की शपथ लेकर मोदी प्रधानमंत्री बने उसकी प्रस्तावना में वह प्रस्ताव था जो नेहरू ने दिसंबर 1946 में संविधान सभा में पेश किया था। वही प्रस्ताव आधार बना भारत को प्रजातंत्र और गणतंत्र बनाने का। आप नेहरु और पटेल की बात करते है। बता दे की पटेल ने अपने एक आलेख में नेहरू की काफी प्रशंसा की थी।’

Loading...