राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका, गुजरात में 5 विधायकों का इस्तीफा

राज्यसभा चुनाव से पहले गुजरात में 5 विधायकों ने इस्तीफा देकर कांग्रेस को बड़ा झटका दिया है। इन विधायकों में प्रवीण मारू, मंगल गावित, सोमाभाई पटेल, जेवी काकड़िया और प्रद्युम्न जडेजा शामिल है।

इससे पहले कांग्रेस ने हॉर्स ट्रेडिंग के डर से 14 विधायकों को जयपुर भेज दिया। 36 और विधायकों को भी राजस्थान भेजा जा सकता है। सभी विधायकों को एक रिजॉर्ट में ले जाया गया है। इन सभी विधायकों को राजस्थान सरकार के मुख्य सचेतक महेश जोशी और महेंद्र चौधरी बस से लेकर शिव विलास होटल गए।  विधायकों से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि बीजेपी ने देश में जो हालात बना रखे हैं, उसका रिफ्लेक्शन है कि पहले महाराष्ट्र के लोग आए थे, फिर मध्यप्रदेश के, अब गुजरात के आ रहे हैं।

उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि ये नौबत क्यों आ रही है? कोई सरकार से असहमति व्यक्त करे तो वह देशद्रोही करार दे दिया जाता है। देश में लोकतंत्र कहां बचा है। हॉर्स ट्रेडिंग हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप सोच सकते हो कि मुल्क में क्या हो रहा है। यहां आने की जरूरत नहीं होती, बेंगलुरु में लोगों को बंदी बनाकर बैठा दिया गया है।

182 सदस्यीय गुजरात विधानसभा में भाजपा के पास 103, जबकि कांग्रेस के पास 73 विधायक हैं। राज्यसभा के उम्मीदवार को जीतने के लिए 37 वोटों की जरूरत होगी। दोनों पार्टियों के पास दो सीटें जीतने के लिए पर्याप्त ताकत है।  कांग्रेस को उम्मीद है कि निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी उनके उम्मीदवार के लिए ही वोट करेंगे।

वहीं स्पीकर राजेंद्र त्रिवेदी ने कहा, कांग्रेस के चार विधायकों ने शनिवार को मुझे अपना इस्तीफ़ा सौंपा, उनके नामों की घोषणा मै सोमवार को विधानसभा में करूंगा। इस तरह 182 सदस्यों वाले गुजरात विधानसभा में अब कांग्रेस की संख्या 73 से घटकर 69 हो गई है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]