‘आप’ के राज्यसभा उम्मीदवार एनडी गुप्ता पर लटकी नामांकन रद्द होने की तलवार

नई दिल्ली । दिल्ली में तीन राज्यसभा सीटों के लिए 16 जनवरी को मतदान होना था। लेकिन तीन ही उम्मीदवार मैदान में होने कारण तीनो उम्मीदवारों का निर्विरोध चुना जाना तय है। ये तीनो ही उम्मीदवार आम आदमी पार्टी से है। 3 जनवरी को आम आदमी पार्टी ने संजय सिंह, एनडी गुप्ता और सुशील गुप्ता को उम्मीदवार घोषित किया था। तब से ही पार्टी के अंदर घमासान मचा हुआ है।

कुमार विश्वास का पत्ता काटकर दो गुप्ताओ को टिकट देना किसी के भी गले नही उतर रहा है। ख़ुद आम आदमी पार्टी के अंदर उम्मीदवारों के लेकर असंतोष है। कुमार विश्वास सार्वजनिक मंच से अपनी नाराज़गी ज़ाहिर कर चुके है। हालाँकि अब इन बातों का कोई मतलब नही रह गया है क्योंकि नामांकन करने की आख़िरी तारीख़ 5 जनवरी थी , जो बीत चुकी है। लेकिन अब दो गुप्ताओ में से एक गुप्ता के ख़िलाफ़ कांग्रेस ने मोर्चा खोल दिया है।

कांग्रेस का आरोप है की आप के राज्यसभा उम्मीदवार एनडी गुप्ता पहले से लाभ के पद पर है इसलिए वह राज्यसभा के उम्मीदवार नही हो सकते। कांग्रेस ने शनिवार की सुबह नामांकन कार्यालय में जाकर एनडी गुप्ता के ख़िलाफ़ शिकायात दर्ज करायी। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने इस बारे में मीडिया को बताया की एनडी गुप्ता नैशनल पेनशन स्कीम के ट्रस्टी है जो एक लाभ का पद है।

इसलिए क़ानून के मुताबिक़ एनडी गुप्ता राज्यसभा के लिए दावेदारी नही कर सकते। हमारी माँग है की उनका नामांकन रद्द किया जाए। कांग्रेस ने एनडी गुप्ता के भाजपा क़रीबी होने का भी आरोप लगाया। अजय माकन ने कहा की भाजपा के दबाव में केजरीवाल ने एनडी गुप्ता को राज्यसभा भेजा है। हम पहले से कहते आए है कि आप, भाजपा की बी टीम है। हालाँकि अभी तक नामांकन कार्यालय की और से इस बारे में कोई सूचना नही आयी है।