भड़काऊ बयान देने वाले बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा का हार को लेकर छलका दर्द

दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Election Result 2020) के नतीजों ने एक बार फिर से आम आदमी पार्टी की सरकार बनने पर मुहर लगा दी है। आप की इस बड़ी जीत से बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। ऐसे में भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा का दर्द छलक आया। उन्होंने अपनी पार्टी की हार स्वीकार की और कहा कि हमें दुख है कि हम सरकार की कमियां दिल्ली की जनता के सामने नहीं रख सके।

चुनाव प्रचार के दौरान भड़काऊ भाषण देने के लिए वर्मा पर चुनाव आयोग ने दो प्रतिबंध झेल चुके प्रवेश वर्मा ने कहा कि “दिल्लीवासी झूठे विज्ञापन और फ्री के प्रवाह में बह गए हैं। मैं इस बात को समझता हूं कि लोगों का तीन महीने का बिजली पानी का बिल फ्री आ रहा था। महिलाएं बसों में फ्री यात्रा कर रहीं थी। ये जो कुछ हो रहा था, वो सिर्फ तीन महीने से हो रहा था। मैं दिल्ली की जनता और जनादेश को बधाई देता हूं। हमारे कार्यकर्ता और मेहनत करेंगे और आने वाले चुनाव में जो कमियां रह गई थीं, उन पर काम करेंगे।”

शाहीन बाग और अपने बयान को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि आप लोग भी यहीं हैं और मैं भी यहीं हूं। उन्होंने कहा, ”आने वाले समय में खूब चर्चा करेंगे। हमारा वोट प्रतिशत और सीटें बढ़ी हैं लेकिन अभी इसकी बात नहीं कर रहे। चुनाव में हार जीत मायने रखती है, हम सरकार नहीं बना पाए। अब जो दिल्ली के मुख्यमंत्री होंगे पांच साल वो दिल्ली की जनता को छोड़ कर नहीं जाएंगे। मुझे लगता है कि अब दिल्ली के उपराज्यपाल और हमारे प्रधानमंत्री जी के ऊपर कोई पांच साल आरोप प्रत्यारोप नहीं होंगे।”

बता दें कि प्रवेश वर्मा के शाहीन बाग के प्रदर्शन पर दिए बयान पर काफी विवाद हुआ था। चुनाव आयोग ने उन पर 48 घंटे का बैन भी लगाया था। हालांकि ओखला सीट से आम आदमी पार्टी के अमानतुल्लाह खान को भारी जीत मिली है। शाहीन बाग इलाके के सभी पांचों पोलिंग बूथ ओखला सीट में ही आते हैं।

 


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE