भीम आर्मी यूपी विधानसभा चुनाव में उतारेगी उम्मीदवार, मुस्लिम वोटों पर नजर

दलित-मुस्लिम वोटों के दम पर अपनी राजनीतिक महत्वकांशा पूरी करने में जुटे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने उत्तर प्रदेश के आगमी विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार उतारने का ऐलान किया है। उन्होने कहा कि वे इसके लिए राजनीतिक दल का गठन करेंगे।

चंद्रशेखर ने बताया कि पार्टी अपने मौजूदा स्वरूप में संगठन के समानांतर काम करती रहेगी। भीम आर्मी के प्रमुख चंद्र शेखर का कहना है कि राजनीति उनकी महत्वाकांक्षा नहीं बल्कि मजबूरी है। चंद्र शेखर ने कहा वे दिसंबर में एक राजनीतिक दल के गठन की घोषणा करना चाहते थे, लेकिन CAA  लागू होने के कारण यह काम रुक गया। उन्होंने कहा कि सीएए के खिलाफ लड़ना चुनाव लड़ने से ज्यादा महत्वपूर्ण हो गया था।

राजनीति में आने की बात पर चंद्रशेखर का कहना है कि ये उनकी ‘महत्वाकांक्षा’ नहीं बल्कि उनकी ‘मजबूरी’ है। उन्होंने कहा कि वे मुझे गिरफ्तार कर सकते हैं, जेल में डाल सकते हैं और मानवाधिकारों का दुरुपयोग कर सकते हैं। इसी के लिए मैं राजनीति में आना चाहता हूं कि ताकि ये बदल सके और लोगों को उनके अधिकार मिल सकें।

उल्लेखनीय है कि चंद्रशेखर की भीम आर्मी पर दिल्ली हिं’सा भड़काने के आरोप लग रहे है। दिल्ली पुलिस के अनुसार सीएए का विरोध कर रहे भीम आर्मी के समर्थकों द्वारा रविवार शाम सीएए समर्थकों पर पत्थर चलाए जाने से इस दं”गे की चिंगारी उठी।

पुलिस ने भीम आर्मी के दिल्ली प्रमुख हिमांशू वालमिकी की पहचान की है और दावा है कि उसने रविवार शाम 6 बजे तक और अधिक भीड़ को जुटाया था। इसी सब के चलते मौजपुर और कर्दमपुरी में पत्थ’रबाजी के कई मामले सामने आए। उधर भीम आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रतन सिंह ने सभी आरोपो को गलत बताया है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE