गायों की है चिंता तो बीफ निर्यात पर लगाए प्रतिबंध: कांग्रेस विधायक

कर्नाटक के एक कांग्रेस नेता ने मंगलवार को नरेंद्र मोदी सरकार से गोमांस के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने की अपील करते हुए कहा कि इस तरह के कदम से यह सुनिश्चित होगा कि गाय का वध नहीं किया जाता है।

विधायक दिनेश गुंडु राव, जो कांग्रेस के गोवा डेस्क प्रभारी हैं, की ये टिप्पणी पड़ोसी राज्य कर्नाटक से तटीय राज्य में गोमांस की आपूर्ति की कमी की पृष्ठभूमि के खिलाफ आई है।

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने गोमांस के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दे। अगर ऐसा होता है, तो गायों का वध नहीं किया जाएगा।”

उन्होंने कहा कि कर्नाटक के किसान पीड़ित हैं। एक ओर राज्य सरकार उनके गाय, भैंस और बैल की देखभाल के लिए मदद नहीं करती है, जबकि दूसरी ओर सरकार का कहना है कि कोई अपने जानवरों को बेच नहीं सकता है। आखिर ऐसी स्थिति में कोई करे तो क्या करे।

कांग्रेस एमएलए ने आगे कहा कि कर्नाटक में बीजेपी सरकार को राज्य के भैंस, गाय और बैल की देखभाल के लिए नीति बनानी चाहिए। साथ ही पशुपालकों को इसके लिए भत्ता देना चाहिए। वर्तमान में जहां पर भी गोहत्या विरोधी कानून हैं, वहां पर मवेशियों की संख्या कम हो गई है।

उन्होंने बीजेपी का नाम लिए बिना कहा कि वो उत्तर पूर्वी राज्यों, गोवा, केरल के लिए अलग बात करते हैं, जबकि कर्नाटक, महाराष्ट्र के लिए अलग बात। उन्होंने कहा कि मेरा साफ मानना है कि अगर बीजेपी और मोदी सरकार को गायों के वध से दिक्कत है, तो उसे निर्यात को तुरंत बैन करना चाहिए।

“मैं जो कह रहा हूं वह यह है कि अगर वे (केंद्र सरकार) इसके बारे में विशेष रूप से (गायों के वध के खिलाफ) हैं, तो उन्हें भारत से गोमांस के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दें। हम बीफ के दूसरे सबसे बड़े निर्यातक हैं।