बदरुद्दीन अजमल का एआईयूडीएफ कांग्रेस वाले महागठबंधन में होगा शामिल

असम में अगले साल की शुरूआत में होने वाले विधानसभा चुनाव में अखिल भारतीय संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा (एआईयूडीएफ) ने कांग्रेस की अगुवाई वाली महागठबंधन में शामिल होने का फैसला किया है।

असम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने कहा कि अखिल भारतीय संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा (एआईयूडीएफ) ने महागठबंधन का हिस्सा बनने के लिये सहमति जतायी है, जबकि वाम दल भी गठबंधन में शामिल होने के बारे में सैद्धांतिक तौर पर सहमति दे चुके हैं ।

बोरा ने ‘पीटीआई- भाषा’ को बताया, ‘’महागठबंधन की हमारी संकल्पना पर हमें बेहद सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है । अब तक एआईयूडीएफ ने सहमति जतायी है। वाम दल इसका हिस्सा बनने के लिये सहमत हुये हैं और कहा है कि आंतरिक चर्चा के बाद इस बारे में वह अंतिम निर्णय करेंगे ।’’

कांग्रेस नेता ने बताया कि अन्य छोटी एवं भाजपा विरोधी नये दलों ने गठबंधन में शामिल होने की अपनी इच्छा से कांग्रेस को अवगत कराया है, लेकिन इसके बारे में वे आधिकारिक तौर पर निर्णय करने के बाद घोषणा करेंगे। बता दें कि मंगलवार को कांग्रेस नेता तरुण गोगोई ने कहा था कि उनकी पार्टी ने 2021 के विधानसभा चुनावों के लिए ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) के साथ एक महागठबंधन बनाने का फैसला किया है।

गोगोई ने कहा, “विधान सभा चुनाव में गठबंधन के लिए केवल एआईयूडीएफ ही नहीं बल्कि हम सभी समान विचारधारा वाले दलों के हमारे विकल्प खुले हैं। जबकि आल असम स्टूडेंट यूनियन कांग्रेस की सहयोगी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि राज्य के लोग अर्थव्यवस्था की स्थिति से असंतुष्ट हैं, लोगों की नौकरियां जा रही हैं और चारों ओर अनिश्चितता का माहौल है।”

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि “असम में भाजपा के खिलाफ लहर है।” राज्य में युवाओं, किसानों, आदिवासियों और बंगालियों को लगता है कि उनके साथ धोखा हुआ है। असम के लोग आज एक महागठबंधन चाहते हैं।”


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE