भाजपा सांसद का दावा – महात्मा गांधी ने अंग्रेजों की इजाजत से किया था स्वाधीनता संग्राम का ‘ड्रामा’

विवादास्पद टिप्पणी के कारण अक्सर चर्चा में रहने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने एक बार फिर से महात्मा गांधी पर विवादित बयान दिया है। उन्होने कहा कि गांधी के नेतृत्व में चला स्वाधीनता आंदोलन एक ‘ड्रामा’ था। यह कोई असल लड़ाई नहीं थी, यह दिखावटी संघर्ष था।

हेगड़े ने गांधीजी की भूख हड़ताल और सत्याग्रह आंदोलनों को भी नाटक करार देते हुए कहा कि “जो लोग कांग्रेस का समर्थन करते हैं, वे यही कहते हैं कि भारत को आजादी भूख हड़ताल और सत्याग्रह से मिली। यह सच नहीं है। अंग्रेजों ने देश को सत्याग्रह की वजह से नहीं छोड़ा। उन्होंने हमें निराशा और हार की वजह से आजादी दी। जब मैं इतिहास पढ़ता हूं, तो मेरा खून खौलता है। ऐसे लोग हमारे देश में महात्मा बन जाते हैं।”

उन्होंने कहा कि लोग कांग्रेस का यह कहते हुए समर्थन करते हैं कि अनशन और सत्याग्रह के कारण देश को आजादी मिली, लेकिन यह सत्य नहीं है। ब्रितानी शासकों ने सत्याग्रह नहीं, बल्कि निराशा और कुंठा के कारण देश छोड़कर गए।

अनंत हेगड़े ने यह भी कहा, ‘मैं जब इतिहास पढ़ता हूं तो गुस्से से खून खौल जाता है। देश को लेकर ऐसे नाटक करने वाले गांधी जैसे लोग महात्मा हो गए। ऐसा कैसे हो सकता है? बता दें कि हेगड़े 2014 से 2019 तक केंद्र सरकार कौशल विकास मंत्री रहे।

साल 2017 में भी बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े तब चर्चा में आए थे, जब उन्होंने कहा था कि बीजेपी जल्द ही उस संविधान को बदल देगी, जिसमें धर्मनिरपेक्ष शब्द लिखा है। उन्होंने कहा था कि भारतीय संविधान कहता है कि हम धर्मनिरपेक्ष हैं, इसलिए इसे मानना ही पड़ेगा, हम संविधान का आदर करते हैं। हालांकि इसे कई बार बदला गया है, यह भविष्य में बदलेगा, हम लोग संविधान बदल देंगे।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE