अजान मामले में बोली AIMIM – जावेद अख्तर को मुसलमान कहलाने का हक नहीं

‘लाउडस्पीकर’ पर अजान का मुद्दा उठाते हुए स्क्रिप्ट और लिरिस्ट राइटर जावेद अख्तर शनिवार को कहा कि लाउडस्पीकर पर अजान से परेशानी होती है। ऐसे में इसे खुद ही बंद कर देना चाहिए। इस मामले में अब असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM ने उन पर निशाना साधा है।

AIMIM के नेता सैयद असीम वकार ने ट्वीट कर कहा ‘दोस्तों आज एक साहब ने ट्वीट किया और इस ट्वीट में उन्होंने कहा कि लाउडस्पीकर पर तेज आवाज में अजान देना गलत है। तेज आवाज में अजान देने से लोगों को डिस्टरबेंस होती है और इसका अंत होना चाहिए। यह वही साहब है जिन्होंने कुछ दिन पहले असद साहब के भाषण के विरोध में राज्यसभा में एक भाषण दिया था…शेरवानी…शेरवानी करके खूब चिल्लाए थे और बीजेपी के लोगों ने खुश होकर खूब तालियां बजाई थीं…’।

असीम वकार ने आगे कहा ‘अल्लाह का करम देखिए, अल्लाह ने उस बड़े से कुर्ते में छिपे छोटे आदमी को आप सबके सामने खड़ा कर दिया। अल्लाह ने दिखा दिया कि इस बड़े से कुर्ते के नीचे जो ज्ञान है वह खाकी निक्कर से निकल कर आ रहा है। AIMIM इस तरह के बयान का खंडन और पुरजोर विरोध करती है। यह साहब अब राज्यसभा सदस्य नहीं हैं, लेकिन राज्यसभा में जाने के लिए जो जो हथकंडे इस्तेमाल करने चाहिए, उन्हीं में से एक हथकंडे का नाम यह है। आप सब लोगों से मेरी गुजारिश है कि आप अपने अपने तरीके से, अपने अपने शब्दों में जो बेहतर लगे उस तरीके से इनका विरोध करें’। उन्होंने आगे कहा ‘रमजान के पाक महीने में ये अज़ान का विरोध कर रहे हैं। इन्हें मुसलमान कहलाने का कोई हक नहीं है। मैं भी इनका विरोध कर रहा हूं और आप सब भी इनका विरोध करिए…’।

बता दें कि बीते दिनों जावेद अख्तर ने अजान के दौरान लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर रोक लगाने की मांग करते हुए ट्वीट किया, “भारत में तकरीबन 50 साल तक लाउड स्पीकर पर अजान हराम थी। इसके बाद ये हलाल हो गई और इस कदर हलाल हुई कि इसकी कोई सीमा ही नहीं रही। अजान करना ठीक है लेकिन लाउड स्पीकर पर इसे करना दूसरों के लिए दिक्कत का सबब बन जाता है। मुझे उम्मीद कि कम से कम इस बार वो इसे खुद करेंगे।”


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE